Thursday, December 9, 2021

Add News

यूपी में पुलिस की जोरआजमाइश के बावजूद कई जिलों में निकली ट्रैक्टर रैली

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

आज गणतंत्र दिवस के मौके पर किसान आंदोलन के समर्थन और संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर उत्तर प्रदेश के तमाम जिलों में किसानों ने ट्रैक्टर रैली निकाली। झांसी में जगह-जगह चेकिंग की गई। ट्रैक्टर रैली को रोक दिया गया। झांसी में किसानों के आंदोलन के समर्थन में ट्रैक्टर रैली निकाल रहे सपा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने बीच रास्ते में रोक दिया। बस में भरे कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर पुलिस लाइन लाया गया।

गणतंत्र दिवस पर हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के पांवटा साहिब क्षेत्र के किसानों ने भी मंगलवार को ट्रैक्टर रैली निकाली। फाइट फॉर फार्मर राइट कमेटी के आह्वान पर रैली में सैकड़ों की संख्या में किसान, स्कूली बच्चे, भूतपूर्व सैनिक, महिलाएं और जनप्रतिनिधि भी शामिल हुए।

मुजफ्फरनगर में पुलिस प्रशासन ने समाजवादी पार्टी को जिले की तहसीलों पर ट्रैक्टर रैली नहीं निकालने दी और न ही तहसीलों पर ध्वजारोहण करने दिया। इस दौरान पुलिस की सपा नेताओं के साथ नोकझोंक भी हुई। सपा नेता रास्ते में ही ध्वजारोहण कर लौट गए। कुछ स्थानों पर सपा नेताओं को घर से नहीं निकलने दिया गया। किसान आंदोलन के समर्थन में समाजवादी पार्टी ने गणतंत्र दिवस पर सभी तहसीलों पर ट्रैक्टर रैली निकालकर ध्वजारोहण करने की घोषणा की थी।

बागपत के सिंघावली अहीर गांव में ट्रैक्टर रैली निकालकर दिल्ली में चल रही रैली का समर्थन किया गया। किसानों ने कहा कि दिल्ली पुलिस ने जिस तरह किसानों पर लाठीचार्ज किया है वह निराशाजनक है।

मेरठ में ट्रैक्टर रैली निकाल रहे सपाइयों को पुलिस ने रोक लिया। चार ट्रैक्टर पुलिस लाइन ले जाए गए। सपा नेताओं को गिरफ्तार कर अंबेडकर भवन में रखा गया। इनमें सपा जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह, शहर विधायक रफीक अंसारी, पूर्व महानगर अध्यक्ष आदिल चौधरी आदि शामिल हैं। पुलिस का कहना है कि रैली नहीं निकालने दी जाएगी।

इटावा जिले में इकदिल थाना क्षेत्र के अंतर्गत समाजवादी पार्टी नेता एवं पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अंशुल यादव के नेतृत्व में ट्रैक्टर रैली निकाली गई, जिसे प्रशासन के द्वारा मानिकपुर मोड़ पर रोक दिया गया। इससे आगरा-कानपुर हाईवे जाम हो गया।

हमीरपुर के राठ कस्बे में किसान कानूनों के विरोध में गणतंत्र दिवस पर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने नगर में ट्रैक्टर रैली निकाली, जिसमें करीब दो दर्जन ट्रैक्टरों सहित सैकड़ों सपा कार्यकर्ता शामिल रहे। इस दौरान मुख्य मार्ग पर स्टेट बैंक चौराहे के पास नारेबाजी कर रहे सपाइयों को पुलिस ने रोका, जिस पर निवर्तमान ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि सत्यपाल यादव की कोतवाली पुलिस से तीखी नोंकझोंक हुई। पुलिस पर अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए सत्यपाल यादव ने जमकर विरोध जताया।

कानपुर में ट्रैक्टर रैली निकालने को लेकर पुलिस और समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की सूचना है। मथुरा के नौह झील के पास जाम लग गया। सैकड़ों की संख्या में किसान ट्रैक्टर ट्रॉली लेकर यमुना एक्सप्रेस वे पर पहुंचे और दोनों तरफ का रास्ता जाम कर दिया। साथ ही किसान दिल्ली की तरफ कूच कर गए। पुलिस बेबसी से देखती रह गई।

बलरामपुर में ट्रैक्टर रैली निकालने का प्रयास कर रहे पूर्व मंत्री और मटेरा विधायक यासर शाह घर में नजरबंद किए गए। वहीं, चित्रकूट में समाजवादी पार्टी द्वारा ट्रैक्टर रैली निकाली गई। जिला मुख्यालय के पहले ही पुलिस ने गल्लामंडी चौराहे पर रोक लिया। लोनी तहसील पर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर ट्रैक्टर रैली निकाली। वहीं लोनी तिराहा समेत अन्य स्थानों पर भाजपाइयों ने तिरंगा यात्रा निकाली।

इसके अलावा गोरखपुर, आजमगढ़, जौनपुर, वाराणसी, लखनऊ में प्रशासन की सख्ती के बावजूद ट्रैक्टर रैली निकाली गई। उधर, गोरखपुर में ट्रैक्टर रैली निकालने की अनुमति नहीं दी गई।

यूपी के फिरोजाबाद में किसानों की ट्रैक्टर रैली को लेकर पूरे जिले में पुलिस फोर्स तैनात रही। जनपद की सीमाओं पर पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई। समाजवादी पार्टी ने ट्रैक्टर यात्रा निकालने की गोपनीय रणनीति तैयार की है। इसके तहत जिला मुख्यालय पर फोर्स तैनात कर दी गई और बैरियर लगाकर वाहनों की चेकिंग की गई।

आजमगढ़ जिले में गणतंत्र दिवस पर समाजवादी पार्टी (सपा) की ट्रैक्टर रैली को लेकर तनातनी की स्थिति बनी रही। अंबारी स्थित सपा नेता एवं पूर्व बाहुबली सांसद रमाकांत के आवास पर ट्रैक्टरों के साथ कार्यकर्ताओं की भीड़ जमा रही। वहीं पुलिस ने रैली को किसी भी कीमत पर रोकने के लिए प्रमुख मार्गों पर फोर्स लगा दी गई।

जौनपुर में सपा के पूर्व सांसद तूफानी सरोज को पुलिस ने हाउस अरेस्ट किया। घर के बाहर जलालपुर और वाराणसी के फूलपुर थाने की फोर्स तैनात रही। बड़ी संख्या में सपाई भी घर के बाहर जुट गए। पूर्व सांसद का कहना है कि वह घर से बाहर जरूर जाएंगे, चाहे पुलिस कुछ भी कर ले। स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई थी।

यूपी के संतकबीरनगर जिले में किसान आंदोलन के समर्थन में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने निकाली ट्रैक्टर रैली, शहर के बिधियानी मोड़ पर सड़क जाम की। इस दौरान पुलिस से नोकझोंक भी हुई।

वहीं मथुरा जिले में यमुना एक्सप्रेस पर चढ़ने वाले जितने भी पॉइंट थे वहां पुलिस तैनात रही। किसी भी किसान संगठन को यमुना एक्सप्रेस वे पर नहीं चढ़ने दिया गया। मथुरा से चढ़ने वाले एंट्री प्वाइंट को पुलिस ने पहले ही रोक दिया था। डायवर्जन करके उल्टी दिशा से रूटीन के आने जाने वाले लोगों को उतारने और चढ़ाने की व्यवस्था की गई थी।

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

राजधानी के प्रदूषण को कम करने में दो बच्चों ने निभायी अहम भूमिका

दिल्ली के दो किशोर भाइयों के प्रयास से देश की राजधानी में प्रदूषण का मुद्दा गरमा गया है। सरकार...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -