Sunday, October 17, 2021

Add News

agriculture

नये ऊर्जा अध्यादेश के जरिए संघीय ढांचे पर नये हमले की तैयारी में मोदी सरकार!

कृषि अध्यादेश-2020 के जरिए संघीय ढांचे को भोथरा करने की कवायद करने वाली नरेंद्र मोदी सरकार अब ऊर्जा क्षेत्र में आमूल बदलाव की आड़ में संघवाद पर नया हमला करने की तैयारी में है। गौरतलब है कि संसद के...

तो क्या केंद्रीय मंत्रिमंडल से बाहर होंगीं हरसिमरत कौर बादल?

एनडीए के दो मुख्य घटक भारतीय जनता पार्टी और शिरोमणि अकाली दल एकबारगी फिर टकराव की स्थिति में हैं। टकराव की जमीन इस बार 5 जून को केंद्र द्वारा पारित तीन कृषि अध्यादेश-2020 हैं। कृषि अध्यादेशों पर पंजाब के...

केंद्र के नए कृषि अध्यादेशों के खिलाफ पंजाब में बड़े आंदोलनों की तैयारी

 केंद्र सरकार की ओर से कृषि मंडीकरण की बाबत जारी नए अध्यादेशों के खिलाफ कृषि प्रधान सूबे पंजाब में बड़े पैमाने पर राजनैतिक पार्टियां और किसान संगठन जन-आंदोलन शुरु करने जा रहे हैं। राज्य में इन दिनों केंद्र और...

खास रिपोर्ट: फिर जुड़ा पूरब का पंजाब से रिश्ता, वापस लौटने लगे प्रवासी मजदूर

जालंधर। कोरोना वायरस और लॉकडाउन की वजह से पूरब का पंजाब से रिश्ता एकबारगी टूट गया था। यहां रोजी-रोटी कमा रहे दस लाख से ज्यादा मजदूर वापस उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड लौट गए थे। इतने बड़े पैमाने पर...

कृषि संबंधी अध्यादेशों को राष्ट्रपति की मंजूरी, किसानों ने भी शुरू की वापसी के लिए गोलबंदी

लखनऊ। कृषि और कृषि-खाद्यान्न बाजार को कॉरपोरेट कंपनियों के हवाले करने के कृषि सुधारों से जुड़े केंद्र सरकार के तीन अध्यादेशों को राष्ट्रपति ने कल मंजूरी दे दी। मंजूरी मिलने के बाद ही सरकार ने अधिसूचना जारी कर इसे...

कॉरपोरेट की गुलामी और भुखमरी का दस्तावेज है मोदी सरकार का कृषि संबंधी अध्यादेश

कोरोना संकट के समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में 3 जून 2020 को हुई मंत्रिमंडल की बैठक में प्रमुख कृषि उत्पादों को आवश्यक वस्तु अधिनियम के दायरे से बाहर करने, कांट्रैक्ट फार्मिंग का कानून बनाने और मंडी कानून...

केंद्र के ‘कृषि सेवा अध्यादेश-2020’ का पंजाब में चौतरफा विरोध

केंद्र के 'कृषि सेवा अध्यादेश-2020' की घोषणा के साथ ही पंजाब में इसका बड़े पैमाने पर विरोध शुरू हो गया है। विभिन्न प्रमुख किसान संगठन तो मुखालफत में आ ही गए हैं, भाजपा का गठबंधन सहयोगी शिरोमणि अकाली दल...

नई उम्मीद और नये संकल्प के साथ लौटें प्रवासी मज़दूर

हम घर जाना चाहते हैं ! प्रवासी मजदूर आज जहां कहीं भी हैं, ज्यादातर की मांग यही है। सवाल है कि उनके घर में स्थितियां कैसी हैं? अपने घर लौटकर आत्मसम्मान और गरिमा के साथ जीने के लिए उन्हें क्या...

‘राष्ट्र’ या ‘महानता’ के संकल्पों में नहीं, कल-कारखानों और खेत-खलिहानों में बसता है देश

1970 में अपनी पहली छपी किताब ‘लोह कथा’ की पहली कविता ‘भारत’ में पाश ने लिखा था:  भारत- मेरे सत्कार का सबसे महान शब्द  जहाँ कहीं भी इस्तेमाल किया जाए  बाकी सब शब्द अर्थहीन हो जाते हैं  इस शब्द के भाव  खेतों के उन पुत्रों...

झारखंडः हाशिये के लोगों को ध्यान में रखकर बनाया जाए बजट

झारखंड में आने वाले आगामी बजट पर रांची के एचआरडीसी में सामाजिक संगठनों द्वारा दो दिवसीय परिचर्चा का आयोजन किया गया। इस परिचर्चा का आयोजन दलित आर्थिक अधिकार आंदोलन-एनसीडीएचआर और भोजन के अधिकार अभियान के द्वारा किया गया। परिचर्चा में...
- Advertisement -spot_img

Latest News

700 शहादतें एक हत्या की आड़ में धूमिल नहीं हो सकतीं

11 महीने पुराने किसान आंदोलन जिसको 700 शहादतों द्वारा सींचा गया व लाखों किसानों के खून-पसीने के निवेश को...
- Advertisement -spot_img

Log In

Or with username:

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy

Add to Collection

No Collections

Here you'll find all collections you've created before.