Monday, October 25, 2021

Add News

badayuni

शकील बदायूंनी की जयंती पर विशेष: ’‘मैं ‘शकील’ दिल का हूं तर्जुमा…’’

‘‘मैं ‘शकील’ दिल का हूं तर्जुमा, कि मुहब्बतों का हूं राज़दां/मुझे फ़क्र है मेरी शायरी, मेरी जिंदगी से जुदा नहीं’’ शायर शकील बदायूंनी की गजल का यह शानदार शेर वाकई उनकी पूरी जिंदगी और फलसफे की तर्जुमानी करता है।...
- Advertisement -spot_img

Latest News

छत्तीसगढ़: देव स्थल को लेकर सुलग रही है आग,अबूझमाड़ के ग्रामीण हुए लामबंद

बस्तर। नारायणपुर जिले में जल, जंगल और जमीन को लेकर अबुझमाड़ के ग्रामीण फिर से लामबंद होते दिख रहे...
- Advertisement -spot_img