Sunday, May 29, 2022

Chhattisgarh

खतरे में ‘छत्तीसगढ़ का फेफड़ा’: हसदेव को बचाने के लिए दिल्ली से हुआ आह्वान

नई दिल्ली। फ्रेंड्स ऑफ हसदेव अरण्य की ओर से 25 मई यानि कल दिल्ली स्थित प्रेस क्लब में दोपहर 12:30 बजे एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की गई। जिसमें हसदेव को बचाने के मसले पर बुद्धिजीवियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और तमाम...

हसदेव अरण्य: लाखों पेड़ों की कटाई के खिलाफ उठ खड़े हुए लोग

रायपुर। छत्तीसगढ़ में विकास और जीवन के बीच संघर्ष की स्थिति बन गई है। एक ओर जहां सत्ता और कॉरपोरेट कोयला उत्खनन के लिये जंगल काटने की फिराक में हैं तो दूसरी ओर आम ग्रामीण संविधान में प्रदत्त शक्तियों...

बस्तर का बहिष्कृत भारत-3: धर्मान्तरण बनाम घर वापसी

छत्तीसगढ़ के दक्षिण में स्थित बस्तर संभाग में आज “धर्मान्तरण बनाम घर वापसी” का मुद्दा काफी गरमाया हुआ है। देश भर के हिंदू संगठनों का मानना है कि बड़ी संख्या में दलित, आदिवासी, गरीब और दूर-दराज इलाकों में रहने...

दंडकारण्य की लड़ाई आज भी लड़ रहे हैं आदिवासी, सलवा जुडूम के 17 साल बाद एक बार फिर पलायन को विवश

“मैंने अभी इंटरमीडिएट परीक्षा पास की है। मैं स्नातक की पढ़ाई करना चाहता हूँ लेकिन मैं कर नहीं पा रहा हूँ। क्योंकि मुझे सर्टिफिकेट नहीं दिया गया। मेरे माता पिता छत्तीसगढ़ में हैं। मैं आंध्र प्रदेश में शरण लिया...

बस्तर: कलेक्ट्रेट का घेराव करने जा रहे आदिवासी ग्रामीणों पर लाठीचार्ज

नारायणपुर (बस्तर)। कलेक्ट्रेट का घेराव करने जा रहे नारायणपुर के आदिवासियों पर भीषण लाठीचार्ज हुआ है। इस लाठीचार्ज में कई आदिवासी गंभीर पूर से घायल हो गए हैं। ये सभी ग्रामीण नारायणपुर और रावघाट माइंस समेत पांचवीं अनुसूची को...

छत्तीसगढ़ में जारी आंदोलन में एक किसान की मौत, चार लाख के मुआवजे से लोग संतुष्ट नहीं

रायपुर। “सियाराम मर गया। सियाराम किसान था। छत्तीसगढ़ में किसानों की सरकार है। एक किसान पुत्र मुख्यमंत्री है। सियाराम विस्थापित था। एक सरकार ने नई राजधानी बनाने के नाम पर उसकी जमीन छीनी तो दूसरी ने उसकी जिंदगी। उसने...

छत्तीसगढ़ में चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कॉलेज का अधिग्रहण: अपनों पे करम, जनता पे सितम

रायपुर। छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले का मेडिकल कालेज, चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल कालेज पिछले साल काफी सुर्ख़ियों में बना रहा। छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल की कांग्रेस सरकार ने विपक्ष के भारी विरोध के बीच इस निजी मेडिकल कालेज का अधिग्रहण...

बस्तर में आदिवासी पारंपरिक हथियार भरमार बंदूक को मानते हैं अपना पुरखा

बस्तर (छग)। नक्सल उन्मूलन के नाम पर छत्तीसगढ़ के आदिवासी हमेशा से सत्ता के निशाने पर रहे हैं। कभी उन्हें नक्सली करार देकर मारा जाता है तो कभी सलवा जुडूम का हिस्सा बनाकर नक्सलियों के सामने खड़ा कर दिया...

छत्तीसगढ़ : बेचाघाट में आदिवासियों के आंदोलन के 50 दिन, निरंकुश सरकार नहीं कर रही  आदिवासियों से संवाद  

बस्तर। छत्तीसगढ़ के उत्तर बस्तर कांकेर जिले में 50 दिन से आदिवासी आंदोलन कर रहे है लेकिन राज्य की आदिवासी हितैषी बताने वाली भूपेश बघेल सरकार इन आदिवासियों से बात तक नही कर रही है। 7 नंवबर 2021 से...

किसान आंदोलन ने बदला देश का राजनैतिक एजेंडा: तपन सेन

कोरबा। किसान आंदोलन ने देश का राजनैतिक एजेंडा बदल दिया है। इस आंदोलन ने दिखा दिया है कि कॉर्पोरेट लूट को रोका जा सकता है, लेकिन इसके लिए मजदूर-किसान एकता को मजबूत बनाते हुए वर्ग संघर्ष तेज करना होगा।...
- Advertisement -spot_img

Latest News

दूसरी बरसी पर विशेष: एमपी वीरेंद्र कुमार ने कभी नहीं किया विचारधारा से समझौता

केरल के सबसे बड़े मीडिया समूह मातृभूमि प्रकाशन के प्रबंध निदेशक, लोकप्रिय विधायक, सांसद और केंद्र सरकार में मंत्री...
- Advertisement -spot_img