Sunday, December 4, 2022

corporate fascism

एक बड़े राजनीतिक बदलाव के मुहाने पर खड़ा भारत

हमारा देश भारत आज एक बड़े राजनीतिक बदलाव के मुहाने पर खड़ा है। आजादी के बाद देश में कई बड़े जन आंदोलन हुए, जिन्होंने भारतीय समाज पर अपना गहरा असर छोड़ा। 1967 का नक्सलबाड़ी का क्रांतिकारी किसान विद्रोह, 1974...
- Advertisement -spot_img

Latest News

 मोदीराज : याराना पूंजीवाद की पराकाष्ठा

पिछले पांच वर्षों में विभिन्न कम्पनियों द्वारा बैंकों से रु. 10,09,510 करोड़ का जो ऋण लिया गया वह माफ...
- Advertisement -spot_img