Tuesday, October 19, 2021

Add News

funeral

मानसिक स्वास्थ्य के लिए बेहद घातक साबित हुआ है कोरोना

कोविड-19 के बाद देश में मानसिक रोगों के मामले चिंताजनक रूप से बढ़े हैं। कोविड-19 एक अदृश्य शत्रु है। यह रूप बदलने वाला है। यह कब प्रकट होगा, कब समाप्त होगा और कितना विनाशकारी होगा इसका अनुमान लगाना अब...

यह कहां आ गए हमः वडोदरा में भाजपा नेता को अंतिम संस्कार में मुसलमानों के सहयोग पर भी एतराज

इंडियन एक्सप्रेस में पिछले दिनों एक अत्यधिक शर्मनाक खबर प्रकाशित हुई है। खबर के अनुसार वडोदरा के कुछ भाजपा नेताओं ने खासवाडी विद्युत शवदाह गृह में एक मुसलमान की उपस्थिति पर सख्त आपत्ति की। वडोदरा नगर भाजपा के अध्यक्ष...

जन नायक त्रिदिब घोष को दी गई अंतिम विदाई

विस्थापन विरोधी जन विकास आंदोलन के केंद्रीय संयोजक कॉ. त्रिदिब घोष का अंतिम संस्कार उनके पुत्र टुकून घोष द्वारा किया गया। अंतिम संस्कार रांची के हरमू मुक्ति धाम में दिन के 12:30 बजे किया गया। विस्थापन विरोधी जन विकास...

झारखंड: ढोलकट्टा गांव में सीआरपीएफ ने अंत्येष्टि में आए ग्रामीणों को पीटा

झारखंड में सरकार बदल गई है, लेकिन अर्द्धसैनिक बलों (सीआरपीएफ) की गुंडागर्दी जारी है। सीआरपीएफ जब भाकपा (माओवादी) के खिलाफ अभियान चलाने के लिए जंगलों में जाती है, तो वहां ग्रामीणों को भी बेवजह पीटने और गाली-गलौच करने से...

योगी सरकार आ गई अपनी असलियत पर, हाथरस कांड को सांप्रदायिक रंग देने की कवायद शुरू

हाथरस गैंगरेप मामले में यूएनओ ने भी चिंता व्यक्त की है। मीडिया की खबरों के अनुसार, यूएनओ की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि भारत में महिलाओं और बच्चियों के खिलाफ लगातार हो रही यौन...

हाथरस गैंग रेप मामले में उपवास पर बैठे लोक मोर्चा संयोजक गिरफ्तार

बदायूं। हाथरस में दलित लड़की से गैंग रेप और हत्या मामले में उपवास पर बैठे लोक मोर्चा के संयोजक अजीत सिंह यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने कहा कि योगी सरकार की तानाशाही के आगे किसी...

प्रशासन ने शव का नहीं व्यवस्था का कर दिया अंतिम संस्कार

सुबह जब फेसबुक खोला तो पहली खबर मिली कि हाथरस की गैंगरेप पीड़िता का अंतिम संस्कार रात में ही कर दिया गया। चुपके से किए गए इस अंतिम संस्कार के निर्णय में घर और परिवार के लोग सम्मिलित नहीं...

मृत्यु के बाद भी है गरिमा और न्यायपूर्ण व्यवहार का अधिकार

महामारी के समय सरकार और समाज दोनों से ही संवेदनशीलता की अपेक्षा की जाती है। खास तौर से जो इस महामारी से पीड़ित हैं, उनके प्रति संवेदनशीलता और भी ज्यादा जरूरी हो जाती है। नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 महामारी...

क्या कोविड-19 पीड़ितों के शव जीवितों के लिए खतरा हैं?

कोविड-19 महामारी जहां जीते-जी लोगों को आपस में दूर रहने पर मजबूर कर रही है वहीं इसका ख़ौफ़ इस क़दर लोगों के ज़हन पर हावी है कि कोरोना संक्रमण से जान गवां चुके अपने प्यारों के अंतिम संस्कार भी...

कोरोना काल में पाताल लोक में पहुँच गयी है मानवता

वास्तव में यह व्यवस्था सड़ चुकी है, जिसमें इंसानियत व मानवता के लिए कोई जगह नहीं है। जिंदा आदमी तो दूर, यहाँ लाश को भी लोग अपनी गंदी राजनीति चमकाने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। आज जब पूरे...
- Advertisement -spot_img

Latest News

सिविल नेचर के विवाद को आपराधिक केस का रंग दिया जाना अस्वीकार्य: सुप्रीमकोर्ट

उच्चतम न्यायालय की जस्टिस इंदिरा बनर्जी और जस्टिस जेके माहेश्वरी की पीठ ने कहा है कि हाईकोर्ट को इस...
- Advertisement -spot_img