Tuesday, January 18, 2022

Add News

Hemant Soren

झारखंड में प्राथमिक स्कूल के बच्चों का ऑनलाइन शिक्षा एक सपना है : 93.6% बच्चों के पास अपना मोबाइल ही नहीं है

रांची विश्वविद्यालय के विजिटिंग प्रोफेसर ज्यां द्रेज एवं भारत ज्ञान विज्ञान समिति के राष्ट्रीय सचिव काशीनाथ चटर्जी ने हेमंत सोरेन मुख्यमंत्री झारखंड सरकार को एक पत्र भेजकर बताया है कि झारखंड में प्राथमिक स्कूल के बच्चों का ऑनलाइन शिक्षा...

‘सीबीआई-आईबी जब सुप्रीमकोर्ट की नहीं सुनती तो आम लोगों की हैसियत ही क्या’

क्या आपको विश्वास है कि देश की प्रमुख जाँच एजेंसियां केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) और इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) उच्चतम न्यायालय की बात भी अनसुनी करती हैं और न्यायपालिका कोई शिकायत करती है तो एक कान से सुनती हैं और...

धनबाद जज मौत मामले में सीबीआई की 20 सदस्यीय टीम ने शुरू की जांच

धनबाद के अतिरिक्त ज़िला एवं सत्र न्यायाधीश उत्तम आनंद की संदिग्ध मौत की सीबीआई जांच शुरू हो गयी है। इस कथित हत्याकांड में गिरफ्तार ऑटो चालक लखन वर्मा तथा उसका सहयोगी राहुल वर्मा को सीबीआई जल्द रिमांड पर लेने...

धनबाद जज मौत मामले में एसआईटी जांच में आयी तेजी, ऑटो के पीछे जा रहे बाइक सवार को तलाश रही है पुलिस

धनबाद सिविल कोर्ट के जज उत्तम आनंद की मौत की गुत्थी सुलझाने में एसआईटी लगी हुई है। इस मामले में एक बात सामने आयी है कि 28 जुलाई की सुबह मॉर्निंग वाक के दौरान न्यायाधीश को ऑटो ने जिस...

विधायकों की खरीद बिक्री का हथकंडा संवैधानिक गणतंत्र के खिलाफ मोदी सरकार की बड़ी साजिश है: दीपंकर

रांची। पेगासस जासूसी से लेकर झारखंड में हेमंत सरकार को गिराने के लिए विधायकों की खरीद बिक्री का हथकंडा तक भारत के संवैधानिक गणतंत्र के खिलाफ मोदी सरकार की बड़ी साजिश के संकेत हैं। इस कन्वेंशन के माध्यम से...

रूपा तिर्की के परिजनों को अब भी इंसाफ की आस

झारखंड। भले ही हेमंत सरकार ने साहिबगंज की महिला थाना प्रभारी सब इंस्पेक्टर रूपा तिर्की की हत्या बनाम आत्महत्या के मामले की जांच के लिए पिछले 09 जून को एक सदस्यीय जांच आयोग का गठन करके जांच आयोग अधिनियम...

झारखंड: मोतीलाल बास्के फर्जी मुठभेड़ के 4 साल, न्याय का अब भी इंतजार

‘‘एक आदिवासी मजदूर सुबह-सुबह जंगल में लकड़ी काटने जाता है। कोबरा फोर्स की नजर उस आदिवासी मजदूर पर पड़ती है और 11 गोली उसके शरीर में दाग देती है। बाद में उस मजदूर आदिवासी मोतीलाल बास्के को ईनामी माओवादी...

कहाँ नेहरू और बोस की ईगो… और कहाँ उसकी ईगो?

बात 1937 की है। महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू और नेताजी सुभाष चंद्र बोस कलकत्ता में रवींद्र नाथ टैगोर से मिलने पहुँचे और बंगाल के हालात पर चर्चा की।  गांधी नेताजी के भाई शरत चंद्र बोस के घर पर ठहरे थे।...

देश में पूंजीपतियों का, पूंजीपतियों के लिए व पूंजीपतियों के द्वारा बनायी गयी सरकार ही चल रही है

हमारे देश से अंग्रेजों के गये हुए 74 वर्ष पूरे होने वाले हैं। क्या इन 74 वर्षों में भी हमारे देश की जनता को वास्तविक आजादी मिली है? यह सवाल उठा रहा है। और सवाल उठाया है ‘झारखंड जन संघर्ष मोर्चा’...

सरायकेला खरसावां: संयुक्त ग्राम सभा मंच की बैठक में लैंडपूल का विरोध

झारखंड के सरायकेला खरसावां के चांडिल प्रखंड में 7 अप्रैल को पारम्परिक डोबो ग्राम प्रधान शंकर सिंह, रुगड़ी ग्राम प्रधान सीताराम महतो, गौरी ग्राम प्रधान रघुबीर सिंह सरदार, पुड़ीसिली ग्राम प्रधान लविन सिंह की संयुक्त अध्यक्षता में पुड़ीसिली ग्राम...
- Advertisement -spot_img

Latest News

पुस्तक समीक्षा: सर सैयद को समझने की नई दृष्टि देती है ‘सर सैयद अहमद खान: रीजन, रिलीजन एंड नेशन’

19वीं सदी के सुधारकों में, सर सैयद अहमद खान (1817-1898) कई कारणों से असाधारण हैं। फिर भी, अब तक,...
- Advertisement -spot_img