Thursday, October 21, 2021

Add News

moblynching

मॉब लिंचिंग में साधु-संत की हत्या : जानिए बुद्धिजीवियों की ‘चुप्पी’ का मतलब

एक सवाल अक्सर पूछा जाता है- क्यों चुप हैं सेकुलर, क्यों चुप हैं बुद्धिजीवी? इन्हें सेकुलर गैंग, अवार्ड वापसी गैंग, मानवाधिकार वाले कहकर धिक्कारते हुए पुकारा जाता है। इन्हें गुनहगार के तौर पर पेश करने की कोशिश होती है।...

नानपारा में दस दिनों के भीतर दो युवकों को घेर कर मारा गया, बहराइच पुलिस का घटनाओं को मॉब लिंचिंग मानने से इंकार

लखनऊ। बहराइच के नानपारा में पिछले दिनों मॉब लिंचिंग की एक ख़बर आई। रिहाई मंच ने इस घटना की तफ्तीश किया तो पता चला कि 19 अप्रैल, 2020 को नानपारा के घसियारन टोला के मोहम्मद रजा की मौत के...

पालघर में भीड़ तो महज़ हथियार थी, सोशल मीडिया की भड़काऊ पोस्टों ने पहले ही बना दिया था साधुओं के खिलाफ माहौल

मुंबई। पालघर की मॉब लिंचिंग में दो साधुओं और उनके कार चालक की हत्या के मामले में इसके सबसे पहले ज़िम्मेदारों तक पुलिस नहीं पहुंच पा रही है। हत्या की पृष्ठभूमि और माहौल तैयार करने वाले ये हत्यारे तो...

पालघर भीड़ हिंसा, मॉब लिंचिंग के आंकड़े, सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देश और उनका अनुपालन

पालघर पर टीवी चैनलों के चीखते हुये एंकरों के शोर के बीच यह संजीदा सवाल गुम है कि आखिर 2018 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिये गए भीड़ हिंसा या मॉब लिंचिंग के गाइडलाइंस के बावजूद आज तक केवल मणिपुर...

क्योंकि हम कबीलों में रहने वाले वहशी जानवर हैं!

और हमें लग रहा था कि हम सिर्फ मुस्लिम को मारेंगे 47 के विभाजन में, भिवंडी में, मुजफ्फरपुर में, गोधरा में, बाबरी मस्जिद ढहाने के बाद, और तमाम तरह के लिंचिंग करके - हम सिर्फ सिखों को मारेंगे 1984...

पालघर के तौर पर सामने आ रहा है समाज में बोया गया ज़हर, झूठ की फ़ैक्ट्री आईटी सेल अभी भी सबक़ लेने को तैयार...

पालघर की घटना बेहद घृणित ओर निंदनीय है इसकी जितनी भी भर्त्सना की जाए उतनी कम है। एक 80 साल के बुजुर्ग ओर उनके दो साथियों की जिस तरह निर्मम तरीके से पीट पीटकर हत्या कर दी गयी। यह...

मॉब लिंचिंग पत्र केस में हस्तियों पर देशद्रोह के मुकदमे का निर्देश देने वाले सीजेएम को क्या सुप्रीमकोर्ट के रुलिंग्स का ज्ञान है?

मुज़फ़्फ़रपुर में सीजेएम सूर्यकांत तिवारी की अदालत ने एक वकील सुधीर कुमार ओझा के प्रार्थना पत्र पर धारा 156(3) सीआरपीसी के तहत मॉब लिंचिंग को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखने वाले इतिहासकार रामचंद्र गुहा, फ़िल्मकार मणिरत्नम, अनुराग कश्यप, श्याम बेनेगल, अभिनेत्री...

लिंचिंग संबंधी भागवत का बयान: अकारण नहीं है महज शब्दों पर संघ का जोर

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सुप्रीमो के संघ के स्थापना दिवस- दशहरा- पर वक्तव्य को हमेशा बेहद दिलचस्पी के साथ देखा जाता है। दरअसल संघ में यह लम्बी परम्परा चली आ रही है कि इस सालाना तकरीर को सभी आनुषंगिक संगठनों के...

शख्सियतों के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज करने के फैसले के खिलाफ वर्धा हिंदी विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राएं पीएम को लिखेंगे पत्र

वर्धा। मॉब लिंचिंग के खिलाफ पत्र लिखने के कारण देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किए जाने के खिलाफ महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय के समस्त न्याय व लोकतंत्र पसंद छात्र-छात्राएं प्रधानमंत्री को पत्र लिखेंगे। उक्त आशय की अपील जारी करते...

सत्ता प्रायोजित मॉब लिंचिंग के बीच दो साल पहले ही मंदी ने दे दी थी दस्तक

दुनिया के कई आर्थिक पंडित दो साल पहले ही वैश्विक आर्थिक मंदी के बारे में घोषणा कर चुके हैं कि आने वाले डेढ़ से दो साल के बीच यह दस्तक दे सकती है। अक्टूबर 2017 में एम्सटरडम में हुई एक कॉन्फ्रेंस में मैराथन...
- Advertisement -spot_img

Latest News

इंफ्रास्ट्रक्चर बनाओ, संवारो और फिर निजी क्षेत्र को बेच दो – माले मुफ्त दिले बेरहम !

कुशीनगर, हवाई अड्डा के भी अगले साल तक निजी क्षेत्र को सौंपे जाने की योजना है। कुशीनगर का हवाई...
- Advertisement -spot_img