Sunday, May 29, 2022

muslim

स्पेशल: ज्ञानवापी मामले में फव्वारे के पक्ष के लोगों की दलील, कहा-शिवलिंग में छेद नहीं होता

वाराणसी। बनारस के ज्ञानवापी मस्जिद में कथित ‘शिवलिंग’ की तरह की आकृति मिलने के बाद छिड़े चौतरफा विवाद के बीच एक बहस शुरू हो गई है। तकरार इस बात पर हो रही है कि विवादित स्ट्रक्चर आखिर है क्या-शिवलिंग...

कश्मीर को हिंदू-मुस्लिम चश्मे से देखना कब बंद करेगी सरकार?

पाकिस्तान में प्रशिक्षित और पाक-समर्थित आतंकवादी कश्मीर घाटी में लंबे समय से सक्रिय हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नोटबंदी की घोषणा करते समय दावा किया था कि इससे कश्मीर घाटी में आतंकवाद पर नियंत्रण पाने में मदद मिलेगी। कश्मीर...

ज्ञानवापी में अब मुस्लिम वजू भी करेंगे,नमाज भी पढ़ेंगे और यदि शिवलिंग मिला है तो उसकी सुरक्षा डीएम करेंगे

वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद मामले में उच्चतम न्यायालय ने कहा है कि ज्ञानवापी में अब मुस्लिम वजू भी करेंगे,नमाज भी पढ़ेंगे और यदि शिवलिंग मिला है तो उसकी  सुरक्षा डीएम करेंगे। मस्जिद का सर्वे कराने के वाराणसी कोर्ट के...

कम बच्चा पैदा करने में सबसे आगे निकलीं मुस्लिम महिलाएं ! NHFS-5 की रिपोर्ट में खुलासा

आम धारणा यह है कि मुसलमान सबसे ज्यादा बच्चे पैदा करते हैं। अक्सर मुसलमानों को इस बात के लिए निशाने पर लिया जाता है कि वे ‘जनसंख्या जेहाद’ कर रहे हैं। मगर, क्या यह सच है? सच्चाई इसके उलट...

आदिवासियों की हत्या के बाद मध्य प्रदेश की गरमाई राजनीति

गौमांस के नाम पर मुसलमानों के बाद हिन्दुत्ववादियों की हिंसा का शिकार अब तक आदिवासी अधिक हुए हैं, चाहे वे झारखंड के हों या मध्यप्रदेश के। हमलावरों का कनेक्शन भाजपा से ही रहा है। हाल की घटनाओं का जिक्र करें...

फिजा में जहर घोलने की चौतरफा कोशिशों का हिस्सा है हनुमान चालीसा का पाठ और कश्मीर फाइल्स

इस साल (2022) अप्रैल में रामनवमी से लेकर हनुमान जयंती के बीच हुई घटनाओं ने देश को हिला कर रख दिया है। नफरत के बुल्डोज़र ने अनेकानेक घरों के साथ-साथ हमारे संवैधानिक मूल्यों को भी ढहा दिया है। अब...

गोदी नज़र में ‘सेकुलर’ बना बुल्डोजर!

अतिक्रमण मुक्ति अभियान राष्ट्रीय मुद्दा बन चुका है। नगर निगम और नगरपालिकाएं मजबूत दिख रही हैं। केंद्र-राज्य सरकारें खामोश हैं। क्या स्थानीय निकायों का स्वर्ण काल आ गया है? क्या देश का लोकतंत्र इतना उदार हो गया है कि...

क्या अब शिष्ट होना भी गुनाह है? 

नानी याद आने की कहावत थोड़ी अतिरंजित है ; असल में तो अम्मा याद आती हैं। आज हमें अम्मा याद आ गयीं। अम्मा हमारी बिना पढ़ी लिखी थी - गेरुआ वस्त्र धारी साधू के घर में एक के बाद...

कश्मीर फाइल्सः दो राष्ट्र के सिद्धांत और नाजीवाद का खतरनाक मिश्रण

एक बड़े शहर के मल्टीप्लेक्स में 'कश्मीर फाइल्स' देखने गया तो पहला अहसास यही हुआ कि देश की लोकतांत्रिक संस्थाओं तथा समाचार माध्यमों को निगल जाने के बाद अब भाजपा तथा संघ परिवार के हाथ सिनेमा जैसा शक्तिशाली माध्यम...

सर के हिजाब न देख, उनका जज़्बा देख

जब घर से निकल के एहतेजाज ज़रूरी हो तब क्यों ऐसे में हिजाब पे ऐतराज ज़रूरी हो इन पंक्तियों का लेखक भारत सरकार की दो संस्थाओं का मॉनीटर रह चुका है, जिसमें एक संस्था सभी महिलाओं के आर्थिक विकास के लिए...
- Advertisement -spot_img

Latest News

दूसरी बरसी पर विशेष: एमपी वीरेंद्र कुमार ने कभी नहीं किया विचारधारा से समझौता

केरल के सबसे बड़े मीडिया समूह मातृभूमि प्रकाशन के प्रबंध निदेशक, लोकप्रिय विधायक, सांसद और केंद्र सरकार में मंत्री...
- Advertisement -spot_img