Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

नियमगिरि के वास्तविक दावेदारों के खिलाफ राज्य-कॉर्पोरेट का संयुक्त अभियान क्या इस बार निर्णायक होने जा रहा है?

“गांव छोड़ब नाहीं, हम जंगल छोड़ब नाहीं, माई-माटी छोड़ब नहीं, लड़ाई छोड़ब नहीं।” इस लोकगीत को संभवतः देश के सभी नागरिकों ने कभी न कभी [more…]

Estimated read time 1 min read
ज़रूरी ख़बर

दिल्ली हिंसा: ऊपरी आदेश की प्रतीक्षा ने पुलिस को किया विकलांग

आज़ादी के बाद 1984 के दंगों को छोड़ दें तो दिल्ली में दंगों का इतिहास नहीं रहा है। उस दंगे में भी पुलिस की भूमिका [more…]

Estimated read time 1 min read
राज्य

जांच रिपोर्टः आजमगढ़ में पुलिस ने महिलाओं-बच्चों पर भी की बर्बरता

0 comments

लखनऊ। आज़मगढ़ के बिलरियागंज के मौलाना जौहर अली पार्क में सीएए, एनआरसी और एनपीआर के विरोध में महिलाओं के शांतिपूर्ण धरने पर 4-5 फरवरी की [more…]

Estimated read time 1 min read
राज्य

पुलिस दमन और संवैधानिक लोकतांत्रिक अधिकारों के हनन पर जनसुनवाई, प्रशासन ने पालिका हाल का आवंटन अचानक किया रद्द

0 comments

बदायूं। इलाहाबाद उच्च न्यायलय के मुख्य न्यायाधीश की पीठ द्वारा नियुक्त एमिकस क्यूरी रमेश कुमार ने पुलिस प्रताड़ना और संवैधानिक लोकतांत्रिक अधिकारों के हनन के [more…]

Estimated read time 1 min read
राज्य

लखनऊ घंटाघरः ‘पुलिसिया इमरजेंसी’ के खिलाफ महिलाओं ने बनाई हौसले की दीवार

0 comments

शायर अली सरदार जाफरी का एक शेर है, बहुत बर्बाद हैं लेकिन सदा-ए-इंक़लाब आए वहीं से वो पुकार उठेगा जो ज़र्रा जहां होगा लखनऊ के [more…]

Estimated read time 1 min read
राज्य

आंदोलन में शामिल होने भर से बहुत कुछ बदल जाता है

0 comments

इलाहाबाद में रोशन बाग़ का मंसूर अली पार्क। यहां कल तक अंबेडकर और गांधी जी थे, आज यहां भगत सिंह, अशफ़ाक उल्ला खां, बिस्मिल, अबुल [more…]

Estimated read time 1 min read
राजनीति

छात्र-छात्राओं पर पुलिस की बर्बर कार्रवाई के खिलाफ प्रियंका गांधी धरने पर

0 comments

जामिया यूनिवर्सिटी और एएमयू में पुलिस की बर्बर कार्रवाई के खिलाफ कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी धरने पर बैठ गई हैं। उनके साथ कई अन्य [more…]