Wednesday, December 8, 2021

Add News

pollution

भारत में मानव अपशिष्ट निष्पादन एक गंभीर समस्या

अगर हम शहरी स्वच्छता की बात करें तो इस मामले में प्रमुख चुनौती है समस्या की विराटता की अनदेखी। शहरी स्वच्छता की चुनौतियां कई तरह की हैं और इसकी उपेक्षा करना स्वच्छता के मोर्चे पर भारत का प्रदर्शन पीछे...

विकास, जो जिंदगी पर पड़ रहा है भारी!

लॉक डाउन ख़त्म होते ही प्रदूषण फिर से अपने मानक को पार करने लगा है। गाजियाबाद के जिस वसुंधरा इलाके में मैं जहां रहता हूं वहां आजकल विकास कार्यों की धूम है। दस किमी का एक फ्लाईओवर बन चुका...

नोटबंदी के बाद शिशु मृत्यु दर में बढ़ोत्तरी, कोरोना से और बदतर हो सकते हैं हालात

8 नवंबर 2017 यानी नोटबंदी की पहली बरसी पर मुंबई की एक मां किरण शर्मा ने अपने नवजात बेटे की कार्डियो-रिस्पाइरेटरी फेल्योर से मौत की सालगिरह के तौर पर मनाया था। उस नवजात बच्चे की मौत सिर्फ़ इसलिए हो...

पराली संकट: तुषार मेहता के विरोध के बावजूद जस्टिस लोकुर की नियुक्ति

‘खाता न बही जो उच्चतम न्यायालय में सॉलिसिटर जनरल कहें वो सही’, की उक्ति से उच्चतम न्यायालय बाहर निकलता प्रतीत हो रहा है। यह महज संयोग नहीं हो सकता कि पिछले दो-तीन साल के दौरान जब केंद्र सरकार की...

थाली बजाने से पहले समझ लें, उसकी आवाज आपकी कार्य क्षमता पर पड़ रही है भारी!

अगस्त का महीना खत्म होने वाला है और हिंदू त्योहारों का टाइम आ गया है। मुझे ये बताने की आपको ज़रूरत नहीं थी, आपके आसपास के ‘लाउड स्पीकरों’ ने आपको स्वयं सूचना दे दी होगी।ऐसे ही एक शाम मैंने...

जीवाश्म ईंधन के वायु प्रदूषण से देश में हर साल दस लाख लोगों की मौत, 10.7 लाख करोड़ का नुकसान: रिपोर्ट

जीवाश्म ईंधन के जलने से उत्पन्न वायु प्रदूषण के कारण भारत में हर साल दस लाख लोगों की मौत का अनुमान है। ग्रीनपीस (दक्षिण पूर्व एशिया) ने अपनी तरह की पहली रिपोर्ट में यह जानकारी दी है। ग्रीनपीस बताया...

जलवायु परिवर्तन पर युवा सड़कों पर हैं लेकिन राष्ट्रों को चिंता नहीं

प्रदूषण फैलाने वाले बड़े देशों को छोटे देशों के दबाव का सामना करना पड़ा और जलवायु परिवर्तन के खिलाफ वैश्विक एक्शन प्लान नहीं बन पाया। दो सप्ताह के विचार-विमर्श के बाद भी 2015 के पेरिस समझौते को कैसे लागू...

इतनी सी बातः सांसों की भी सुनो

दुनिया तो बसते-बसते बसी है। कोई हजारों या लाखों साल में बनी है दुनिया। पेड़, पहाड़, जंगल, नदियां, पशु, पक्षी और तितलियां। तरह-तरह के फल-फूल और पौधे। असंख्य प्रकार के जीव-जंतु। इस दुनिया को अचानक हमारी हवस ने खतरे में डाल...

पराली नहीं जहर उगलते प्लांट हैं मुख्य तौर पर प्रदूषण के लिए जिम्मेदार

मीडिया दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण पर किसानों के पराली जलाते हुए विजुअल दिखा रहा है, लगभग हर न्यूज़ चैनल पर यह दृश्य दिखाए जा रहे हैं। गोया कि सारा वायु प्रदूषण किसानों के पराली जलाने से ही होता है। लेकिन...

खतरे में हैं भारत के बड़े शहर

नई दिल्ली। एक तरफ देश के बड़े शहर अब भी प्रदूषित हवा में सांस लेने को मजबूर हैं वहीं दूसरी तरफ ग्रीनपीस द्वारा जारी नाइट्रोजन डायआक्सायड (NO2) के सैटलायट डाटा के विश्लेषण में यह सामने आया है कि ज्यादा घनत्व वाले वाहन...
- Advertisement -spot_img

Latest News

सरकार की तरफ से मिले मसौदा प्रस्ताव के कुछ बिंदुओं पर किसान मोर्चा मांगेगा स्पष्टीकरण

नई दिल्ली। संयुक्त किसान मोर्चा को सरकार की तरफ से एक लिखित मसौदा प्रस्ताव मिला है जिस पर वह...
- Advertisement -spot_img