Sunday, October 17, 2021

Add News

rajya

कृषि विधेयक पर डिप्टी चेयरमैन ने दिया जवाब, कहा- सिवा अपनी सीट पर थे लेकिन सदन नहीं था आर्डर में

नई दिल्ली। राज्य सभा के डिप्टी चेयरमैन हरिवंश नारायण सिंह ने इंडियन एक्सप्रेस द्वारा उठाए गए सवालों का जवाब दिया है। उन्होंने कहा है कि यह बात सही है कि डीएमके सांसद तिरुची सिवा मत विभाजन की मांग करते...

नोटबंदी, जीएसटी, तालाबंदी के बाद मोदी का चौथा ‘मास्टर स्ट्रोक’ है कृषि कानून!

राज्यसभा में हंगामा होते हुए अशांत वातावरण के बीच न यह स्पष्ट हो पा रहा था कि बिल के समर्थन में हुंकारी कौन भर रहा है, और विरोध में 'ना' कौन कर रहा है, राज्य सभा के उपसभापति बस...

विपक्ष के विरोध के बीच दोनों कृषि विधेयक राज्य सभा से भी पारित

नई दिल्ली। कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) विधेयक, 2020’ और मूल्य आश्वासन एवं कृषि सेवा सम्बंधी किसान समझौता (सशक्तिकरण और सुरक्षा) विधेयक, 2020 विपक्ष के तीखे विरोध के बीच राज्यसभा में ध्वनिमत से पारित हो गया।...

‘सुशांत’ से जो बचेगा उसे हरिवंश करेंगे पूरा! राज्यसभा उपसभापति के लिए एनडीए की तरफ से भरा पर्चा

बिहार चुनाव से पहले सवर्णों के एक प्रभावी तबके से आने वाले राज्य सभा सांसद हरिवंश उपसभापति के उम्मीदवार हो गए हैं और उन्होंने आज अपना नामांकन का पर्चा भी दाखिल कर दिया। जदयू राज्य सभा सांसद हरिवंश पहले...

जनादेश को अनहुआ करने की युक्तियां

भाजपा ने गुजरात में राज्यसभा की चार में से तीन और मध्य प्रदेश में तीन में से दो सीटें जीत ली हैं। दोनों राज्यों में उसे विपक्षी खेमे में तोड़-फोड़ की हालिया आक्रामकता से एक-एक सीटों का फायदा हुआ...

गुजरात: राज्यसभा चुनाव में बीजेपी ने फिर शुरू किया खरीद-फरोख्त का खेल, कांग्रेस के एमएलए भेजे गए रिजार्ट में

अहमदाबाद। मार्च 26 को गुजरात से राज्यसभा के लिए चुनाव होने थे। लेकिन कोरोना महामारी और लॉक डाउन के चलते राज्यसभा चुनाव रद्द करना पड़ा था। देश में अनलॉक की घोषणा के बाद चुनाव आयोग ने 19 जून के...

भंवर में महाराज की राजनीतिक पगड़ी!

राजनीति में एक गलत कदम किसी भी स्थापित राजनेता को अर्श से फर्श पर ला पटकता है। कोरोना की आहट के बावजूद कांग्रेस के कद्दावर नेता रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जिस तरह पाला बदल के मध्यप्रदेश में कांग्रेस की...
- Advertisement -spot_img

Latest News

700 शहादतें एक हत्या की आड़ में धूमिल नहीं हो सकतीं

11 महीने पुराने किसान आंदोलन जिसको 700 शहादतों द्वारा सींचा गया व लाखों किसानों के खून-पसीने के निवेश को...
- Advertisement -spot_img

Log In

Or with username:

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy

Add to Collection

No Collections

Here you'll find all collections you've created before.