Sunday, December 4, 2022

Rule of LA

रूल आफ लॉ में बिना अपराध कठोर धाराओं में क्यों फंसा रही एनसीबी!

एक ओर नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत को शिकायत है कि देश में कुछ ज्यादा ही लोकतंत्र है, लेकिन यक्ष प्रश्न यह है कि जब ज्यादा लोकतंत्र है तो देश में कानून के शासन का अनुपालन क्यों नहीं...
- Advertisement -spot_img

Latest News

 मोदीराज : याराना पूंजीवाद की पराकाष्ठा

पिछले पांच वर्षों में विभिन्न कम्पनियों द्वारा बैंकों से रु. 10,09,510 करोड़ का जो ऋण लिया गया वह माफ...
- Advertisement -spot_img