Wednesday, October 27, 2021

Add News

sadhu

हरिद्वार कुंभ में फूटा ‘कोरोना बम’

सात अप्रैल से देश में लगातार कोविड-19 संक्रमण के एक लाख से अधिक मामले दर्ज़ किए जा रहे हैं। 12 अप्रैल को देश में संक्रमण के 1, 68,912 नये मामले दर्ज़ किए गए थे और 904 लोगों की मौत...

तो भूख या बीमारी से नहीं, बस यूं ही मर गया यह साधु?

अयोध्या। अयोध्या से दिल को झकझोर देने वाली एक तस्वीर सामने आई है। सरकार के बड़े-बड़े दावे और समाजसेवियों की फौज ने सिर्फ रोड पर चंद लोगों को खाना खिला कर या राशन किट बांट कर फोटो खिंचवाने तक...

मॉब लिंचिंग में साधु-संत की हत्या : जानिए बुद्धिजीवियों की ‘चुप्पी’ का मतलब

एक सवाल अक्सर पूछा जाता है- क्यों चुप हैं सेकुलर, क्यों चुप हैं बुद्धिजीवी? इन्हें सेकुलर गैंग, अवार्ड वापसी गैंग, मानवाधिकार वाले कहकर धिक्कारते हुए पुकारा जाता है। इन्हें गुनहगार के तौर पर पेश करने की कोशिश होती है।...

भीड़ का कोई धर्म नहीं होता, न ही होती है कोई जाति और नस्ल

मार्टिन नीम्वैलर (1892-1984) ने जर्मनी में नाज़ी शासन के अंतिम 7 साल यातना शिविरों में बिताए, वे पेशे से प्रोटेस्टेंट पादरी थे तथा प्रथम विश्वयुद्ध में जर्मन नेवी में रह चुके थे। उनकी सुविदित पंक्तियां : पहले उन्होंने समाजवादियों को...

डर इस बात का है कि मौत ने घर का रास्ता देख लिया!

महाराष्ट्र पालघर मॉब लिंचिंग पर देश में वो लोग हंगामा कर रहे हैं जिनके हाथ खुद खून से रंगे हैं। जब उत्तर प्रदेश में कथित मांस को लेकर अखलाक की मॉब लिंचिंग हुई थी और उसके बाद थानेदार सुबोध...

क्योंकि हम कबीलों में रहने वाले वहशी जानवर हैं!

और हमें लग रहा था कि हम सिर्फ मुस्लिम को मारेंगे 47 के विभाजन में, भिवंडी में, मुजफ्फरपुर में, गोधरा में, बाबरी मस्जिद ढहाने के बाद, और तमाम तरह के लिंचिंग करके - हम सिर्फ सिखों को मारेंगे 1984...

पालघर के तौर पर सामने आ रहा है समाज में बोया गया ज़हर, झूठ की फ़ैक्ट्री आईटी सेल अभी भी सबक़ लेने को तैयार...

पालघर की घटना बेहद घृणित ओर निंदनीय है इसकी जितनी भी भर्त्सना की जाए उतनी कम है। एक 80 साल के बुजुर्ग ओर उनके दो साथियों की जिस तरह निर्मम तरीके से पीट पीटकर हत्या कर दी गयी। यह...

पालघर के बारे में मैं नहीं चुप था, सांप्रदायिकों का गिरोह कुछ ज़्यादा सक्रिय था

मुंबई से 125 किमी दूर पालघर में एक भयानक घटना हुई है। गढ़चिंचले गांव के पास हत्यारी भीड़ ने दो साधुओं और एक कार चालक को कार से खींच कर मार डाला। इनमें से एक 70 वर्षीय महाराज कल्पवृक्षगिरी...

पालघर लिचिंग और वो राजनीति जो इंसानों को हत्यारा बनाती है या कीड़े-मकोड़े

पालघर में जिन तीन लोगों को उनकी गाड़ी से उतारकर मार दिया गया, उनमें दो साधु थे जो किसी अंत्येष्टि में शामिल होने के लिए निकले थे। पुलिस मौक़े पर मौजूद थी पर भीड़ ने उसे बेबस कर दिया...
- Advertisement -spot_img

Latest News

नॉर्थ-ईस्ट डायरी: बांग्लादेश में हुई हिंसा के बाद त्रिपुरा में मस्जिदों और अल्पसंख्यक बस्तियों पर विहिप का हमला

बांग्लादेश में हाल ही में दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़ के खिलाफ विहिप की एक रैली के दौरान अगरतला...
- Advertisement -spot_img