Tuesday, January 18, 2022

Add News

The wire

पेगासस : 5 भारतीय सहित 17 पत्रकारों ने पेरिस में दर्ज़ करायी शिकायत

पेगासस जासूसी कांड में सात देशों के 17 पत्रकारों ने रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स के साथ मिलकर इजारयली कंपनी एनएसओ ग्रुप के ख़िलाफ़ खिलाफ फ्रांस की राजधानी पेरिस में शिकायत दर्ज कराई है। इनमें भारत के भी 5 पत्रकार शामिल...

दलाई लामा से लेकर नगा नेता मुइवाह तक जासूसी सूची में शामिल, इज़रायल में भी जाँच

पेगासस जासूसी प्रकरण में ‘द गार्डियन’ और ‘द वाशिंगटन पोस्ट’ प्रतिदिन नये-नये खुलासे कर रहा है। द गार्डियन के अनुसार तिब्बत के आध्यात्मिक नेता दलाई लामा के करीबी सलाहकारों का नाम पेगासस की संभावित सर्विलांस टारगेट लिस्ट में पाया...

द गार्डियन का दावा: मोदी के इजरायल दौरे के बाद भारतीय पेगासस के निशाने पर

पेगासस जासूसी कांड में ब्रिटिश न्यूज मीडिया वेबसाइट द गार्डियन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इजरायल दौरे का जिक्र किया है। माइकल सैफी लिखती हैं कि “मोदी राइवल राहुल गांधी अमंग पोटेंशियल इंडियन टारगेट्स ऑफ एनएसओ क्लाइंट” शीर्षक वाली...

कोरोना संकटः पांच राज्यों की रैलियों में व्यस्त मोदी ने INSACOG की चेतावनी को किया अनदेखा

केंद्र सरकार द्वारा बनाये गये वैज्ञानिक फोरम INSACOG के पांच वैज्ञानिकों द्वारा समाचार एजेंसी रॉयटर्स को दी गयी जानकारी और इस INSACOG के सदस्य डॉ. राकेश मिश्रा का द वॉयर के लिये किया गया करण थापर के इंटरव्यू से...

कॉरपोरेट-सियासत का गठजोड़ः बदले वक्त में शिकारी ही बन जाते हैं शिकार!

आईएनएक्स मीडिया घोटाले में जब से पिता पी चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति चिदंबरम को मोदी सरकार ने जेल भेजा था, तबसे यह मामला सुर्ख़ियों में है। चिदंबरम ने इस मामले में रहस्यमय चुप्पी ओढ़ रखी है। ‘द वायर’...

‘द वायर’ के संपादक सिद्धार्थ के घर पर अयोध्या पुलिस की दस्तक, दिया 14 अप्रैल को उपस्थित होने का नोटिस

नई दिल्ली। 'द वायर’ के संस्थापक संपादक सिद्धार्थ वरदराजन के खिलाफ उत्तर प्रदेश में दर्ज एफआईआर के सिलसिले में कल 10 अप्रैल को दिन में दो बजे उत्तर प्रदेश पुलिस दिल्ली में उनके घर पहुँच गयी। नंदिनी सुंदर ने ट्विटर...
- Advertisement -spot_img

Latest News

पुस्तक समीक्षा: सर सैयद को समझने की नई दृष्टि देती है ‘सर सैयद अहमद खान: रीजन, रिलीजन एंड नेशन’

19वीं सदी के सुधारकों में, सर सैयद अहमद खान (1817-1898) कई कारणों से असाधारण हैं। फिर भी, अब तक,...
- Advertisement -spot_img