Saturday, April 20, 2024

When a state is repressive

जब कोई राज्य दमनकारी होता है तो आशा न्यायपालिका से होती है: जस्टिस एस मुरलीधर

उड़ीसा हाईकोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश जस्टिस एस मुरलीधर ने गुरुवार को केरल हाईकोर्ट सभागार में 'न्यायपालिका की स्वतंत्रता' पर व्याख्यान देते हुए राज्य के प्रति-बहुमत अंग होने के नाते न्यायपालिका के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि...

Latest News

तब की घोषित इमरजेंसी से भयानक है आज का अघोषित आपातकाल?

18 वीं लोकसभा के लिए चुनावों का पहला चरण हो चुका है; 62 प्रतिशत  से अधिक मतदान के साथ...