Monday, January 24, 2022

Add News

नफ़रत जीत गई, कलाकार हार गया, विहिप और बजरंग दल की धमकी पर दो महीने में कॉमेडियन मुनव्वर फ़ारुकी के 12 शो रद्द

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

“नफ़रत जीत गई, कलाकार हार गया। मेरा काम हो गया, अलविदा.. अन्याय।” उपरोक्त पंक्तियां स्टैंड अप कॉमेडियन मुनव्वर फ़ारूक़ी ने अपने ट्वीटर एकाउंट पर पोस्ट किया है।https://twitter.com/munawar0018/status/1464834752234471431?s=19
दरअसल कल बेंगलुरु में उनका एक निर्धारित शो बेंगलुरु पुलिस के हस्तक्षेप के बाद रद्द कर दिया गया। पुलिस ने शो आयोजकों को लिखी चिट्ठी में मुनव्वर फ़ारूक़ी को ‘विवादित शख्स’ बताते हुये लॉ एंड ऑर्डर की समस्या हवाला देकर शो के आयोजकों से शो रद्द करवा दिया । इसके बाद ही उनका निराशा भरा बयान सामने आया। मुनव्वर फ़ारूक़ी ने बताया कि उन्होंने बेंगलुरु कार्यक्रम के लिए 600 से अधिक टिकट बेचे थे, लेकिन “बर्बरता की धमकी” के कारण शो रद्द कर दिया गया है। बता दें कि बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद की धमकियों के कारण पिछले दो महीनों में मुनव्वर फ़ारूक़ी के कम से कम 12 शो पुलिस प्रशासन द्वारा रद्द कर दिये गये। एक दर्जन शो रद्द होने के बाद कॉमेडियन मुनव्वर फ़ारूक़ी ने संकेत दिया कि वह अब और शो नहीं कर सकते। 
इसके दो सप्ताह पहले विश्‍व हिंदू परिषद और बजरंग दल ने रायपुर कलेक्टर और एसपी को एक लिखित आवेदन देकर प्रशासन को धमकाया था कि स्टैंड-अप कॉमेडियन मुनव्वर फ़ारूक़ी के 14 नवंबर को होने वाले शो की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए क्योंकि फ़ारूक़ी ने अतीत में हिंदू देवताओं का कथित तौर पर मजाक उड़ाया था। इन संगठनों ने धमकी दी थी कि यदि स्थानीय प्रशासन कार्यक्रम की अनुमति देता है तो वे शो को बंद कर देंगे। आवेदन में धमकी भरे स्वर में कहा गया था कि, अगर रायपुर में कार्यक्रम आयोजित होता है तो इसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी और बजरंग दल अपने तरीके से यह आयोजन नहीं होने देगा। 
इससे पहले अक्‍टूबर माह में भी बजरंग दल की धमकियों के बाद स्टैंड-अप कॉमेडियन मुनव्वर फ़ारूक़ी के मुंबई में तीन शो रद्द कर करने पड़े थे। 
गौरतलब है कि हिंदू देवी-देवताओं के अपमान” के आरोप में इस साल की शुरुआत में फारुकी एक महीने जेल में रहे थे। उनका कहना है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा जमानत दिए जाने के बाद भी उन्हें काम नहीं करने दिया जा रहा है। उन्होंने कहा था, “मुझे रोजाना 50 धमकी भरे कॉल आते हैं, मुझे तीन बार अपना सिम कार्ड बदलना पड़ा। जब मेरा नंबर लीक हो जाता है, तो लोग फोन करते हैं और मुझे गालियां देते हैं।’
गौरतलब है कि फारुकी पर इससे पहले, हिंदू देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणियों का आरोप लग चुका है। मध्य प्रदेश में बीजेपी के विधायक मालिनी लक्ष्मण सिंह गौड़ के बेटे एकलव्य सिंह गौड़ की शिकायत पर इस साल की शुरुआत में मुनव्वर फ़ारूक़ी गिरफ्तार किया गया था। निचली अदालतों से बेल की अर्जी ख़ारिज़ होने के बाद सुप्रीम कोर्ट से उन्हें अंतरिम जमानत मिली थी। 

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

कैराना में सांप्रदायिकता का जहर फैलाने की शाह ने थामी कमान!

2013 में सांप्रदायिक दंगे का दर्द झेलने वाला मुज़फ़्फ़रनगर जिले से सटे शामली जिले की कैराना विधानसभा एक बार...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -