ज़रूरी ख़बर

कानपुर देहात में दलित किशोरी की हत्या, पुलिस पर लापरवाही का आरोप

हाथरस और बलरामपुर में दलित युवती का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि अब कानपुर देहात से भी एक नाबालिग दलित लड़की की हत्या का मामला सामने आया है। एक हफ्ते से लापता किशोरी के शव के अवशेष बरामद हुए हैं। घर वालों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया है। लड़की के गायब होने की शिकायत पुलिस से की गई थी।

यूपी के जिला कानपुर देहात में एक हफ्ते से गायब नाबालिग दलित लड़की का शव मिला है। मामला रूरा गहोलिया गांव का है। घर वालों ने बताया कि 26 तारीख की सुबह उनकी बच्ची घर से शौच के लिए खेतों की तरफ गई थी। जब वह काफी देर होने के बाद भी नहीं लौटी तो परिवार के लोगों ने उसकी तलाश शुरू की। खोजबीन के बाद भी उसका कोई पता नहीं चल सका। मृतका की मां का आरोप है कि उन्होंने बच्ची के गायब होने की शिकायत थाने में की थी, लेकिन पुलिस ने खोजबीन नहीं की। आज शनिवार को दलित किशोरी के शव के अवशेष खेतों में पड़े मिले। शव मिलने की सूचना पर एसपी समेत पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। शव बुरी तरह से सड़-गल गया था।

गांव के लोगों ने खेत में शव पड़ा देखा तो घर वालों को इसकी खबर की। मौके पर पहुंचे घर वालों ने किशोरी की पहचान उसके कपड़ों से की। किशोरी के सिर के बाल जबड़ा और कपड़े मौके से मिले हैं। एसपी ने बताया कि लड़की 26 तारीख को गायब हुई थी। इसकी रिपोर्ट 27 तारीख को दर्ज की गई थी। मृतका के पिता का कहना है कि उनके दोनों भाइयों ने ही बच्ची का अपहरण कर के उसकी हत्या कर दी है। दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। आगे की जांच की जा रही है। रेप के एंगल से भी जांच की जा रही है।

This post was last modified on October 4, 2020 12:10 pm

Share
Published by