Thursday, October 28, 2021

Add News

ग्रीस का ऐतिहासिक फैसलाः नव-फासीवादी गोल्डन डॉन पार्टी के छह सांसदों को 13 साल की सजा, संबंध रखने वालों को 10 वर्ष की जेल

ज़रूर पढ़े

ग्रीस की नव-फासीवादी गोल्डन डॉन पार्टी के नेताओं को घृणा अपराधों से जुड़े एक आपराधिक गिरोह को चलाने के लिए बुधवार को जेल की सजा सुनाई गई। एथेंस क्रिमिनल अपील कोर्ट की पीठासीन जज मारिया लेपेनीओटी (Maria Lepenioti) ने छह पूर्व सांसदों को 13 साल की जेल की सजा सुनाई, जिसमें गणितज्ञ और जनसंहार को नकारने वाले गोल्डन डॉन के नेता निकोस मिहलियालकोस (62) भी शामिल हैं। जबकि अन्य पूर्व सांसदों को एक आपराधिक समूह के सदस्य होने के कारण पांच से सात साल की जेल की सजा सुनाई गई है। अदालत इस हफ्ते के अंत में फैसला करेगी कि क्या कोई भी सजा निलंबित की जा सकती है।

बता दें कि साल 2013 में वाम रैपर पावलोस फॉइसस (Pavlos Fyssas) की हत्या के भारी विरोध-प्रदर्शन के चलते तत्कालीन ग्रीस सरकार ने कार्रवाई करते हुए गोल्डन डॉन के शीर्ष नेताओं को गिरफ्तार कर लिया था।

अदालत ने गोल्डन डॉन के सदस्य योरगोस रौपाकियास (Yiorgos Roupakias) को एक एंटी-फासिस्ट रैपर पावलोस फॉइसस (Pavlos Fyssas) की हत्या के लिए दोषी करार देते हुए आजीवन कारावास और इस आपराधिक संगठन से संबंध रखने वाले तमाम लोगों को 10 साल जेल की सजा सुनाई है।

पावलोस फॉइसस की हत्या के बाद छापेमारी में ग्रीस पुलिस को गोल्डन डॉन पार्टी के सदस्यों के घरों में बिना लाइसेंस के हथियार और नाज़ी झंडे मिले थे। इस मामले में कुल 68 मुकदमे हुए थे, जिसमें पूरे गोल्डन डॉन का नेतृत्व, चार अपराधों का आरोपी था। पिछले सप्ताह ही एथेंस की कोर्ट ने गोल्डन डॉन को आपराधिक संगठन करार दिया था। इसके बाद पूरे ग्रीस में हजारों नस्ल विरोधी प्रदर्शनकारियों ने कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले का स्वगात करते हुए सेलिब्रेट किया था।

बता दें कि गोल्डन डॉन पार्टी की स्थापना साल 1980 के दशक में एक पूर्व फौजी द्वारा की गई थी। अपनी स्थापना के तीसरे दशक में गोल्डन डॉन पार्टी ग्रीस की तीसरी सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बनकर उभरी, जब साल 2012 में पहली बार इस पार्टी ने संसद में प्रवेश किया। दरअसल साल 2012 ग्रीस में आर्थिक आपातकाल का साल था। उस साल के चुनाव में प्रवासियों के बढ़ते आगमन के खिलाफ़ सार्वजनिक असंतोष को भड़का कर गोल्डन डॉन पार्टी देश की तीसरी सबसे बड़ी पार्टी बनने में सफल रही थी।

पावलोस फॉइसस की हत्या केस में अदालत के सभी 453 सुनवाई सत्रों में शामिल होने वाली उनकी मां माग्डा फॉइसस उस वक़्त कोर्ट में ही मौजूद थीं, जब कोर्ट ने उनके बेटे के हत्यारों को सजा सुनाई। फैसला आते ही उनकी आंखों में खुशी से आंसू आ गए। कोर्टरूम में अपनी सीट पर बैठे हुए ही लगभग चीखते हुए विजयी मुद्रा में उन्होंने अपने हाथ हवा में ऊपर उठा दिए थे। उन्होंने अपना ये सेलिब्रेशन कोर्ट रूप के बाहर भी जारी रखा।

बता दें कि पिछले सप्ताह यानि 7 अक्तूबर को एथेंस कोर्ट ने नव-फासीवादी पार्टी गोल्डन डॉन को आपराधिक संगठन घोषित किया था।

(जनचौक के विशेष संवाददाता सुशील मानव की रिपोर्ट।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

भाई जी का राष्ट्र निर्माण में रहा सार्थक हस्तक्षेप

आज जब भारत देश गांधी के रास्ते से पूरी तरह भटकता नज़र आ रहा है ऐसे कठिन दौर में...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -