Thursday, October 28, 2021

Add News

उज्जैन में हैवानियत ने पार की सारी सीमाएं, पति ने रिश्तेदारों से मिलकर पत्नी का अंग-अंग किया विच्छेद

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

मध्य प्रदेश में उज्जैन जिले के नागदा जंक्शन कस्बे  के विद्यानगर क्षेत्र में मंगलवार की सुबह राधाबाई नामक महिला के साथ उसके पति राजेश चंद्रवंशी, ससुर सीताराम, सास गेंदाबाई, मौसी सास कलाबाई ने कमरे में बंद करके हैवानियत की सारी सीमाएं पार कर दी। 

उस पर तलवार से हमला कर दिया। आरोपितों ने उसके मुंह में बेलन ठूंस दिया, ताकि वह चिल्ला नहीं पाए। महिला पर पति, सास-ससुर व एक अन्य महिला रिश्तेदार ने तलवार से हमला कर दिया था। महिला को कमरे में बंद कर उसकी नाक, जीभ और स्तन काट दिए। इसके बाद घायल अवस्था में महिला को मरा समझकर घर के बाहर फेंक दिया। गंभीर रूप से घायल महिला को इंदौर रेफर किया है, जहां उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। 

सूचना मिलते ही मंडी थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा मौके पर पहुंचे। 35 वर्षीय घायल महिला तब तक जीवित थी। आरक्षक जितेंद्र सेंगर व यशपाल सिंह सिसोदिया की मदद से उसे पहले जनसेवा अस्पताल पहुंचाया गया। इसके बाद उसे उज्जैन भेजा गया। वहां भी स्थिति गंभीर होने पर महिला को इंदौर रेफर कर दिया गया।

स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक इस पूरे क्रूरता के दौरान क्षेत्रवासी तमाशबीन की तरह दूर से ही महिला के साथ हो रही इस क्रूरता का नजारा देखते रहे लेकिन किसी ने भी उसे बचाने की हिम्मत नहीं दिखाई। मंगलवार सुबह विद्यानगर की मुख्य सड़क पर ही बने एक मकान से एक महिला के चिल्लाने की आवाजें आ रही थीं। इसके बाद मारते हुए महिला को बाहर लेकर आए और खून से लथपथ महिला को मरा हुआ समझकर घर के बाहर ही फेंक कर आरोपी फरार हो गए। आरोपियों के फरार होने के बाद भी लगभग 10 मिनट तक घायल महिला तड़पती रही लेकिन किसी ने भी उसके पास जाने तक की हिम्मत नहीं दिखाई। 

सूचना मिलते ही मंडी थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा मौके पर पहुंचे। 35 वर्षीय घायल महिला तब तक जीवित थी। आरक्षक जितेंद्र सेंगर व यशपाल सिंह सिसोदिया की मदद से उसे पहले जनसेवा अस्पताल पहुंचाया गया। इसके बाद उसे उज्जैन भेजा गया।

मामले में बिरलाग्राम थाना पुलिस ने बताया पति राजेश सोलंकी, ससुर सीताराम, सास गेंदाबाई और मौसी सास कलाबाई निवासी मेहतवास के खिलाफ धारा 307 के अंतर्गत प्राणघातक हमले का प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस ने तीन अलग-अलग टीमें आरोपियों को पकड़ने के लिए रवाना की हैं। वहीं पुलिस ने बुधवार को ससुर व मौसी सास को गिरफ्तार कर लिया है। इन्हें न्यायालय में पेश किया गया, जहां से जेल भेजने के आदेश दिए गए हैं।

बता दें कि घायल महिला की शादी राजेश से 15 साल पहले हुई थी। उसके दो बेटे हैं। राजेश ट्रक चालक है तथा अधिकांश समय घर से बाहर रहता है। राजेश अपनी पत्नी  राधाबाई पर शक़ करता था और उसे चरित्रहीन कहता था। इसे लेकर उसके परिवार में कई दिनों से विवाद चल रहा था। इससे पूर्व में महिला ने पति के खिलाफ बिरलाग्राम थाने में मारपीट की शिकायत भी दर्ज कराई थी।

(जनचौक ब्यूरो की रिपोर्ट।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

क्रूज ड्रग्स केस में 27 दिनों बाद आर्यन ख़ान समेत तीन लोगों को जमानत मिली

पिछले तीन दिन से लगातार सुनवाई के बाद बाम्बे हाईकोर्ट ने ड्रग मामले में आर्यन ख़ान, मुनमुन धमेचा और...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -