Subscribe for notification

कन्हैया के ऊपर दो हफ्ते में लगातार 8वां हमला, आरा के रास्ते में तकरीबन एक दर्जन लोगों ने काफिले पर की पत्थरबाजी

नई दिल्ली। युवा फायरब्रांड नेता कन्हैया कुमार के ऊपर आज दो हफ्तों में लगातार 8 वीं बार हमला हुआ। घटना उस समय घटी जब कन्हैया आरा के रास्ते में बक्सर से गुजर रहे थे। तभी नेशनल हाईवे पर चेहरे पर पट्टी बांधे और हाथों में ईट पत्थर लिए तकरीबन एक दर्जन लोगों ने कन्हैया के काफिले पर हमला बोल दिया।

कन्हैया के साथ उस समय पांच गाड़ियां चल रही थीं। जिनमें उनके समर्थक और सुरक्षा मुहैया कराने वाले लोग सवार थे। उनके साथ एक पुलिस एस्कॉर्ट भी चल रही थी। एनडीटीवी के रिपोर्टर मनीष कुमार उस समय कन्हैया के साथ ही चल रहे थे। घटनास्थल पर पहुंचने के बाद कन्हैया गाड़ी से उतर गए और मामले को समझने के लिहाज से वह भीड़ के पास चले गए। उनके साथ बेगूसराय के उनके रक्षक दल के लोग भी मौजूद थे। जिनके हाथों में लाठियां और दूसरे हथियार थे।

इसी बीच सामने खड़े लोगों ने बातचीत करने की जगह एकाएक पत्थरबाजी शुरू कर दी। तभी आनन-फानन में साथ मौजूद लोगों ने कन्हैया को पीछे किया और एक दूसरी गाड़ी में बैठा दिया। इस दौरान एस्कार्ट के रूप में चल रहे पुलिसकर्मी पूरे मामले से अनजान बने रहे। हालांकि दस मिनट की पत्थरबाजी के बाद वो बाहर निकले और उन्होंने पत्थरबाजी करने वालों को समझा-बुझा कर शांत किया।

इस पत्थरबाजी में कन्हैया को हालांकि कोई चोट नहीं आयी। लेकिन बताया जा रहा है कि उनकी गाड़ी के शीशे टूट गए। हमलावर लगातार ‘देश के गद्दारों को, गोली मारो सालों को’ नारे लगा रहे थे। दिलचस्प बात यह है कि इन हमलावरों को रोकने के लिए पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। कन्हैया ने एनडीटीवी से बात करते हुए कहा कि यह लड़ाई गोडसे समर्थकों और गांधी के समर्थकों के बीच है…..इसलिए यात्रा रोकने के का कोई मतलब ही नहीं है।

इस घटना के 45 मिनट बाद कन्हैया आरा में थे जहां उन्होंने एक सभा को संबोधित किया जिसमें तकरीबन 10 हजार लोग मौजूद थे। कन्हैया की यह यात्रा 27 फरवरी को पटना में समाप्त होगी। यात्रा शुरू होने से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि पूरे टूर के दौरान कन्हैया को पूरी सुरक्षा मुहैया करायी जाएगी। लेकिन जिस तरह से लगातार रास्ते में कन्हैया पर हमले हो रहे हैं वह पूरे प्रशासन की तैयारी पर सवालिया निशान खड़े करते हैं।

गौरतलब है कि कन्हैया ने चंपारन से इस यात्रा की शुरुआत की थी। और यह बिहार के विभिन्न स्थानों से गुजरते हुए पटना पहुंचेगी। कन्हैया की सभाओं में भारी भीड़ इकट्ठा हो रही है।

This post was last modified on February 14, 2020 8:22 pm

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Leave a Comment
Disqus Comments Loading...
Share
Published by

Recent Posts

रेल राज्यमंत्री सुरेश अंगाड़ी का कोरोना से निधन, पीएम ने जताया शोक

नई दिल्ली। रेल राज्यमंत्री सुरेश अंगाड़ी का कोरोना से निधन हो गया है। वह दिल्ली…

9 hours ago

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र के रांची केंद्र में शिकायतकर्ता पीड़िता ही कर दी गयी नौकरी से टर्मिनेट

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र (IGNCA) के रांची केंद्र में कार्यरत एक महिला कर्मचारी ने…

9 hours ago

सुदर्शन टीवी मामले में केंद्र को होना पड़ा शर्मिंदा, सुप्रीम कोर्ट के सामने मानी अपनी गलती

जब उच्चतम न्यायालय ने केंद्र सरकार से जवाब तलब किया कि सुदर्शन टीवी पर विवादित…

12 hours ago

राजा मेहदी अली खां की जयंती: मजाहिया शायर, जिसने रूमानी नगमे लिखे

राजा मेहदी अली खान के नाम और काम से जो लोग वाकिफ नहीं हैं, खास…

12 hours ago

संसद परिसर में विपक्षी सांसदों ने निकाला मार्च, शाम को राष्ट्रपति से होगी मुलाकात

नई दिल्ली। किसान मुखालिफ विधेयकों को जिस तरह से लोकतंत्र की हत्या कर पास कराया…

14 hours ago

पाटलिपुत्र की जंग: संयोग नहीं, प्रयोग है ओवैसी के ‘एम’ और देवेन्द्र प्रसाद यादव के ‘वाई’ का गठजोड़

यह संयोग नहीं, प्रयोग है कि बिहार विधानसभा के आगामी चुनावों के लिये असदुद्दीन ओवैसी…

16 hours ago