कन्हैया के ऊपर दो हफ्ते में लगातार 8वां हमला, आरा के रास्ते में तकरीबन एक दर्जन लोगों ने काफिले पर की पत्थरबाजी

Estimated read time 1 min read

नई दिल्ली। युवा फायरब्रांड नेता कन्हैया कुमार के ऊपर आज दो हफ्तों में लगातार 8 वीं बार हमला हुआ। घटना उस समय घटी जब कन्हैया आरा के रास्ते में बक्सर से गुजर रहे थे। तभी नेशनल हाईवे पर चेहरे पर पट्टी बांधे और हाथों में ईट पत्थर लिए तकरीबन एक दर्जन लोगों ने कन्हैया के काफिले पर हमला बोल दिया।

कन्हैया के साथ उस समय पांच गाड़ियां चल रही थीं। जिनमें उनके समर्थक और सुरक्षा मुहैया कराने वाले लोग सवार थे। उनके साथ एक पुलिस एस्कॉर्ट भी चल रही थी। एनडीटीवी के रिपोर्टर मनीष कुमार उस समय कन्हैया के साथ ही चल रहे थे। घटनास्थल पर पहुंचने के बाद कन्हैया गाड़ी से उतर गए और मामले को समझने के लिहाज से वह भीड़ के पास चले गए। उनके साथ बेगूसराय के उनके रक्षक दल के लोग भी मौजूद थे। जिनके हाथों में लाठियां और दूसरे हथियार थे। 

इसी बीच सामने खड़े लोगों ने बातचीत करने की जगह एकाएक पत्थरबाजी शुरू कर दी। तभी आनन-फानन में साथ मौजूद लोगों ने कन्हैया को पीछे किया और एक दूसरी गाड़ी में बैठा दिया। इस दौरान एस्कार्ट के रूप में चल रहे पुलिसकर्मी पूरे मामले से अनजान बने रहे। हालांकि दस मिनट की पत्थरबाजी के बाद वो बाहर निकले और उन्होंने पत्थरबाजी करने वालों को समझा-बुझा कर शांत किया।

इस पत्थरबाजी में कन्हैया को हालांकि कोई चोट नहीं आयी। लेकिन बताया जा रहा है कि उनकी गाड़ी के शीशे टूट गए। हमलावर लगातार ‘देश के गद्दारों को, गोली मारो सालों को’ नारे लगा रहे थे। दिलचस्प बात यह है कि इन हमलावरों को रोकने के लिए पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। कन्हैया ने एनडीटीवी से बात करते हुए कहा कि यह लड़ाई गोडसे समर्थकों और गांधी के समर्थकों के बीच है…..इसलिए यात्रा रोकने के का कोई मतलब ही नहीं है।

इस घटना के 45 मिनट बाद कन्हैया आरा में थे जहां उन्होंने एक सभा को संबोधित किया जिसमें तकरीबन 10 हजार लोग मौजूद थे। कन्हैया की यह यात्रा 27 फरवरी को पटना में समाप्त होगी। यात्रा शुरू होने से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि पूरे टूर के दौरान कन्हैया को पूरी सुरक्षा मुहैया करायी जाएगी। लेकिन जिस तरह से लगातार रास्ते में कन्हैया पर हमले हो रहे हैं वह पूरे प्रशासन की तैयारी पर सवालिया निशान खड़े करते हैं।

गौरतलब है कि कन्हैया ने चंपारन से इस यात्रा की शुरुआत की थी। और यह बिहार के विभिन्न स्थानों से गुजरते हुए पटना पहुंचेगी। कन्हैया की सभाओं में भारी भीड़ इकट्ठा हो रही है।

You May Also Like

More From Author

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments