Subscribe for notification

‘नरेंद्र मोदी की दुम’ नीतीश कुमार के बयान से हर बिहारी शर्मसार

जो लोग मुख्यधारा की मीडिया की खबरों को जल्दी भूलते नहीं हैं, उन्हें स्मरण होगा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केरल की चुनावी सभा में केरल को सोमालिया होने से बचाने के लिए भाजपा को वोट देने की अपील की थी। नरेंद्र मोदी के उस “सोमालिया- केरल” भाषण पर केरल की भाजपा को भी शर्मसार होना पड़ा था। भाजपा के तमाम थिंक टैंक अवाक हो गए थे। मैं समझ रहा हूं कि “बिहार को दिल्ली से बेहतर” साबित करने और “केजरीवाल ने दिल्ली में कुछ नहीं किया” जैसा वक्तव्य नीतीश कुमार के राजनीतिक जीवन का सबसे कमजोर और बेवकूफी भरा बयान है। मैं नीतीश कुमार के इस वक्तव्य की तुलना नरेंद्र मोदी के “केरल को सोमालिया होने से बचाने” वाले वक्तव्य से करना चाहता हूं।

नीतीश कुमार वर्षों से पटना से बाहर अपने राज्य में भी वायु मार्ग से ही सफर करते हैं इसलिए उन्हें पैदल-भारत की हकीकत पता नहीं। मयूर विहार के फुटपाथ पर स्वादिष्ट चिकेन तंदूरी बेचने वाले प्रमोद मधुबनी के निवासी हैं। उनने पिछले हफ्ते मुझसे कुछ बातें साझा की। मुझसे कहा- भैया हमारा मुख्यमंत्री देखिए बिहार में हमारे बच्चों को जाड़े में कुकुर बनाकर सड़क पर खड़ा कर दिया है और अपने हेलिकॉप्टर से मानव-श्रृंखला का तमेशा देख रहा है। और इधर देखिए कि केजरीवाल सड़क जाम में फंस गया तो आज नॉमिनेशन ना कर पाया। मैंने पूछा कि केजरीवाल बकलोल है हो। मुख्यमंत्री जाम में फंस कर नॉमिनेशन नै करेगा तो ई लोग का भला क्या करेगा। बकौल प्रमोद- “भैया नीतीश कुमार लाठी चलवा कर सड़क पर ढुकने से पहले सड़क खाली करवा लेते आ नालन्दा जाना होता तो उतना दूर काहे सड़क से जाकर हरान होते, उड़ के फुर्र पहुँच जाते।

दिल्ली का मुख्यमंत्री तो भैया कभी हवाई जहाज से लोगों को नै ताकता है।आ भैया ई नीतीश कुमार त धरती पर गोरे नै रोपता है।” प्रमोद बताते हैं कि भैया केजरीवाल से पहले पुलिस वाला हम लोगों को एतना तंग करता था, पूछिए नै। रोज टाका भी बांधे हुए था, ऊपर से जब जेतना मन हुआ खा लिया।केजरीवाल के आने के बाद केतना पुलिस वाला सस्पेंड हुआ।अब तो हम लोगों को कोय बिहारिया नै बोलता है। लोकल दादा लोग के सामने हम्हीं लोग दादा हैं भैया। पुलिस वाले भी पैसा देकर खाते हैं।केजरीवाल तो हम बिहारी गरीब को सड़क का राजा बना दिया है।

प्रमोद की जुबान ही बिहार उत्तर प्रदेश के गरीब रिक्शा चालक, लाखों ऑटो चालक  और ई रिक्शा चालक बोलते हैं।ऑटो वाले कहते हैं कि दिल्ली की सड़क पर दिल्ली पुलिस का जुर्माना, डंडा और माई-बहन सब केजरीवाल ने बंद करा दिया। गाली देने वाले कई सिपाहियों को तो हम लोगों ने पटक-पटक कर मारा है। दिल्ली की सड़क पर केजरीवाल राज में हम बिहरिया नहीं, दिल्लीवाले की शान से अकड़ कर चलते हैं। केजरीवाल ने हम लोगों से एक ही बात कही है कि अगर तुम सड़क पर कानून का पालन नहीं करोगे या  किसी सवारी के साथ गलत व्यवहार करोगे तो केजरीवाल की नाक कटाओगे फिर हम तुम्हारी मदद नहीं कर पाएंगे। दिल्ली में हम बिहारियों की नाक केजरीवाल, केजरीवाल की नाक हम बिहारी- यूपी वाले।

(पुष्पराज शास्त्री वरिष्ठ पत्रकार, लेखक और सामाजिक कार्यकर्ता हैं।)

This post was last modified on February 4, 2020 4:59 pm

Janchowk

Janchowk Official Journalists in Delhi

Share
Published by