ज़रूरी ख़बर

किसान आंदोलनः उत्तराखंड के किसानों ने बैरिकेड तोड़ दिल्ली की तरफ किया कूच, हरियाणा की महिलाओं ने भी संभाला मोर्चा

उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर जिले के काशीपुर, जसपुर और रुद्रपुर से सैकड़ों किसान दिल्ली के लिए निकल पड़े हैं। राज्य सीमा रामपुर रोड पर बैरिकेड तोड़कर किसान दिल्ली को कूच कर गए। इस दौरान जसपुर के हल्दुआ गांव टोल प्लाजा पर पुलिस ने किसानों को रोकने की कोशिश की, लेकिन किसान बैरिकेडिंग हटाकर वहां से रवाना हो गए। काशीपुर में उग्र किसानों ने पुलिस का घेरा तोड़ा और आगे रवाना हो गए। यहां किसानों से पुलिस की तीखी झड़प भी हुई।

किसानों के उग्र प्रदर्शन को देखते हुए ऊधमसिंह नगर जिले में रुद्रपुर, बाजपुर, काशीपुर, जसपुर, सितारगंज, खटीमा, नानकमत्ता, किच्छा आदि जगहों पर भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है, उत्तराखंड सरकार और प्रशासन उत्तराखंड के किसानों को किसी भी कीमत पर दिल्ली जाने से रोकने की कोशिश कर रही है। इसके मद्देनजर ही रुद्रपुर की रामपुर सीमा पर भारी पुलिस फोर्स तैनात की गई है। पुलिस रामपुर बॉर्डर पर जिले से बाहर जाने वाले सभी वाहनों के नंबर नोट कर रही है। सूचना मिल रही है कि सैकड़ों-हजारों किसानों के दिल्ली कूच से जसपुर, काशीपुर और रुद्रपुर में ट्राफिक जाम की स्थिति बन गई है।

हरियाणा में किसानों ने टोल फ्री कराया
आज सुबह से ही आंदोलनकारी किसानों ने हरियाणा के कई टोल प्लाजा पर डेरा डालकर टोल को अगले तीन दिनों के लिए फ्री करवा दिया है। गौरतलब है कि हरियाणा किसान संगठनों की ओर से 25, 26 और 27 दिसंबर को हरियाणा के सभी टोल को फ्री करने का एलान किया गया था।

अलस्सुबह ही हरियाणा के जींद में किसानों ने टोल प्लाजा को फ्री कराया, वहीं जींद-पटियाला राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित खटकड़ गांव के टोल प्लाजा के बैरियर को उठा दिया गया है, जिसके बाद से किसी भी यात्री से टोल नहीं लिया जा रहा है। इसके अलावा झज्जर-रोहतक नेशनल हाईवे पर डीघल टोल को किसानों ने सुबह नौ बजे से फ्री करवा दिया। इसके अलावा सोनीपत में एनएच 44 पर स्थित मुरथल टोल को भी किसानों ने फ्री करवा दिया।

वहीं हरियाणा में रिलायंस जीयो का टॉवर बंद करवाने के बाद अब लुधियाना में रिलायंस के एक पेट्रोल पंप को किसानों ने घेर लिया है। लुधियाना शहर के पॉश इलाके दुगरी में स्थित इस पेट्रोल पंप से किसी को भी पेट्रोल या डीजल डलवाने नहीं दिया जा रहा है। पेट्रोल पंप को घेरकर बैठ किसानों का कहना है कि दिल्ली बॉर्डर पर बैठे किसानों की उन्हें चिंता है और उन्हीं के समर्थन में उन्होंने यह कदम उठाया है।

वहीं आज पंजाब के जालंधर में किसानों ने पंजाब भाजपा के नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री मनोरंजन कालिया के घर का घेराव किया तो पुलिस ने लाठीचार्ज करके किसानों को वहां से हटाया। वहीं भाजपा की पूर्व विधायक सीमा देवी, गांव परमानंद में एक प्रोग्राम में शामिल होने के लिए आ रही थीं। सूचना पाते ही किसानों ने पठानकोट-अमृतसर राष्ट्रीय मार्ग को जाम कर दिया है।

पंजाब के भटिंडा में बीजेपी दफ्तर का घेराव करने जा रहे भारतीय किसान यूनियन के किसानों को पुलिस ने बैरिकेड लगाकर रोका, जिसके बाद वहां पर किसानों और पुलिस टीम के बीच झड़प हुई। किसानो ने बैरिकेडिंग तोड़ कर बीजेपी दफ्तर का घेराव किया।

आंदोलन में किसान परिवारों की महिलाओं को ज्यादा सक्रिय बनाने का बीड़ा उठाते हुए सर्व खाप महिला महापंचायत हरियाणा की विभिन्न इलाकों में जाकर किसान आंदोलन से जुड़ने की अपील कर रही है। बता दें कि ये संगठन खाप की जागरूक महिलाओं का एक संयुक्त संगठन हैं। हरियाणा से सटी दिल्ली के विभिन्न सीमाओं पर बैठे किसानों की मदद के लिए महिला खाप महापंचायत विभिन्न गांवों की महिलाओं की ड्यूटियां लगा रही है, जिसके बाद महिलाओं की टोलियां ट्रैक्टर पर सवार होकर निकल रही हैं। किसान परिवारों की ये महिलाएं दिल्ली सीमाओं पर पहुंचकर वहां किसानों के लिए खाना तैयार करती हैं और धरने पर भी बैठती हैं।

यह टोलियां अपने साथ ट्रैक्टर-ट्रालियों में सब्जियां और अन्य रसद का सामान भी मदद स्वरूप लेकर वहां पहुंच रही हैं। महिलाओं की पहले गईं टोलियां वापस आने के बाद दूसरी टोलियां दिल्ली बॉर्डर पर पहुंचकर उनका मोर्चा संभालती हैं। इन महिलाओं का कहना है कि जब तक यह आंदोलन चलेगा, किसान परिवारों की महिलाओं की यह मदद भी जारी रहेगी।

(जनचौक के विशेष संवाददाता सुशील मानव की रिपोर्ट।)

This post was last modified on December 25, 2020 7:23 pm

Share