Friday, March 1, 2024

सीधी के बाद अब बैतूल में आदिवासी युवक पर बजरंग दल के शख्स का बर्बर हमला, वीडियो हुआ वायरल

नई दिल्ली। अभी झबुआ में पीएम मोदी ने एक दिन पहले ही आदिवासियों के पक्ष में बड़े-बड़े काम करने का दावा किया था। उनके दावों की उस समय पोल खुल गयी जब बैतूल में एक आदिवासी युवक को बीजेपी-संघ से जुड़े बजरंग दल के एक शख्स ने न केवल उसकी बर्बर तरीके से पिटाई की बल्कि उसको मुर्गा बनाकर अपमानित भी किया। सीधी में आदिवासी युवक के ऊपर पेशाब करने के बाद घटी यह दूसरी घटना है जिसमें सत्ता पक्ष से जुड़े संगठन के लोग सीधे शामिल हैं।

इससे संबंधित एक वीडियो भी वायरल हुआ है। 2 मिनट 42 सेकेंड के इस वीडियो में एक युवक को एक शख्स पहले डांटता है। युवक सामने वाले शख्स से लगातार माफी मांग रहा है। लेकिन सामने वाले शख्स पर उसका कोई असर नहीं पड़ता है। वह लगातार युवक को गंदी-गंदी गालियां दे रहा है। और फिर एकाएक उसके मुंह पर झापड़ मारता है जिससे युवक के मुंह से खून निकलने लगता है। उसके बाद भी शख्स पर कोई असर नहीं पड़ता है बल्कि उसके गाली देने की आवाज और बढ़ जाती है। और वह युवक से मुर्गा बनने के लिए कहता है। युवक के कुछ देर तक मुर्गा बनने के बाद उठने पर उसे फिर से मुर्गा बने रहने के लिए कहता है। और इसी दौरान उसकी पीठ पर बेहद जोर-जोर से वार करता है।

यह घटना शनिवार की रात को सामने आयी। पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए केस को रजिस्टर कर लिया है। मामला बैतूल कोतवाली पुलिस स्टेशन में दर्ज हुआ है।

हमला करने वाले शख्स की पहचान चंचल राजपूत के तौर पर की गयी है और उसको बजरंग दल के नर्मदापुरम डिवीजन का कोऑर्डिनेटर बताया जा रहा है। जबकि पीड़ित की पहचान राज यूके के रूप में की गयी है। वह डीजे में नौकरी करता है। और बताया जा रहा है कि डीजे के मालिक और चंचल राजपूत के बीच पहले से किसी मामले को लेकर विवाद चल रहा है। यह हमला उसी का नतीजा था। इस मामले में अभी तक किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

इस मामले में मूकनायक ने वहां के एसपी सिद्धार्थ चौधरी से बात की जिसमें उन्होंने इस घटना की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि वीडियो आने के बाद राज यूके से संपर्क स्थापित किया गया। जिसमें उसने बताया कि यह विवाद डीजे मालिक और चंचल के बीच पुराने झगड़े का नतीजा है। राज ने चंचल की पहचान भी कर ली है। लेकिन बाकी तीन हमलावरों को वह नहीं पहचान सका जो चंचल के साथ थे। पुलिस का कहना है कि उसने चंचल समेत उसके अज्ञात दोस्तों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है।

सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस घटना की निंदा की है। उन्होंने कहा है कि बीजेपी की सत्ता में आदिवासियों के उत्पीड़न की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। सोशल मीडिया पर उन्होंने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है मध्य प्रदेश इस मामले में पूरे देश का अगुआ बनता जा रहा है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इस घटना ने बीजेपी के आदिवासी विरोधी चेहरे का पर्दाफाश कर दिया है। 

कांग्रेस के राज्य अध्यक्ष जीतू पटवारी ने भी घटना की निंदा करते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

जनचौक से जुड़े

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest Updates

Latest

Related Articles