33.1 C
Delhi
Wednesday, August 4, 2021

देवेंद्र पाल

रमेश उपाध्याय: अब कोई शोक-गीत नहीं गाएगा

कोरोना जैसी नामुराद बीमारी और स्वास्थ्य सुविधाओं के लुप्त हो जाने के कारण देश की राजधानी दिल्ली में पिछले कुछ दिनों में बहुत तेजी से जिन इनसानों ने अपनी जान गंवाई है, उनमें से रमेश उपाध्याय भी एक थे।...

किसानों के समर्थन में अब लोकप्रिय कवि सुरजीत पातर ने लौटाया पद्मश्री

पचहत्तर वर्षीय मशहूर पंजाबी कवि सुरजीत पातर उन बेमिसाल हस्तियों में से एक हैं जिन्हें पुरस्कृत करके देने वाला स्वयं सम्मानित हो जाता है। अब सुरजीत पातर ने यह घोषणा की है कि केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ...

किसानों की हिमायत में दुनिया भर में प्रदर्शन, पंजाबी बुद्धिजीवियों ने लौटाए साहित्य अकादमी अवार्ड

पंजाबी के सिरमौर शायर डॉ. मोहनजीत, प्रसिद्ध चिंतक डॉ. जसविंदर सिंह और पंजाबी के मशहूर नाटककार और ‘पंजाबी ट्रिब्यून’ के संपादक डॉ. स्वराजबीर ने किसान आंदोलन की हिमायत और मोदी सरकार के असंवैधानिक क़ानूनों के विरोध में भारतीय साहित्य...

हम भूमिपुत्र स्वयं अपने इतिहास के कर्ता हैं

(प्रधानमंत्री मोदी के नाम एक भूमिपुत्र का खुला ख़त) लिखतुम भूमिपुत्र, पढ़तुम प्रधानमंत्री मोदी,नमस्कार, आदाब, सत् श्री अकाल थोड़े लिखे को तुम ज्यादा ही समझना। ‘आप’ के बजाय ‘तुम’ कहकर संबोधित इसलिए कर रहा हूं, क्योंकि दिल में रंजिश हो तो...

तानाशाही, लोकतन्त्र और खूंटियों पर संविधान

इस समय जब यह पंक्तियाँ मैं लिख रहा हूँ दिल्ली के सरहद पर एक ओर तो देश के जवान हैं और दूसरी और ‘अन्नदाता’ भूमिपुत्र किसान खड़े हैं। ‘जय जवान-जय किसान‘ के नारे के तहत देश अपने जिन दो...

क्या प्रोपेगंडा मशीन को मेनस्ट्रीम मीडिया कहना वाजिब है?

लो जी, बस इसी की कमी रहती थी। मोदी सरकार ने यह कमी भी पूरी कर दी। अब कॉरपोरेट मीडिया के जबड़े से बाहर जो इन्टरनेट पर पत्रकारिता की थोड़ी बहुत पवित्र जगह (प्रभाष जोशी के शब्दों में) बची थी वहाँ...

लोकतंत्र का पतन और जो बाइडेन की जीत

मशहूर अमेरिकी लेखक कर्ट वॉनगट कहा करते थे- ‘अमेरिका में दो वास्तविक राजनीतिक दल हैं, विजेता तथा पराजित’ लेकिन यह पुरानी बात हो गई। इस बार नारीवादी समाजशास्त्री और दार्शनिक जुडिथ बटलर ने वोट डालने के बाद जो बात...

अमेरिका में लिया गया था भारत में नोटबंदी का फैसला!

नोटबंदी के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने देश से पचास दिन मांगे थे, पचास की बजाए अब तो चार साल बीत चुके हैं पर हालत जस के तस बने हुए हैं। प्रधानमंत्री मोदी को अच्छी तरह से पता था, पचास...

विश्वगुरु भारत बनेगा विश्वचौधरी अमेरिका का मोहरा!

‘जिस बात का खतरा है, सोचो की वो कल होगी’– दुष्यंत की ग़ज़ल का मिसरा है। जितनी तेजी से समाज बदल रहा है, दुष्यंत आज जीवित होते तो लिखते– ‘जिस बात का खतरा है, वो तो बस हुई लो...

बिहार के चुनाव मेले में क्या नहीं है?

बिहार एक राज्य जिसे 1970 के दशक में वीएस नायपॉल ने ‘वह स्थान जहां सभ्यता समाप्त होती है’ के रूप में वर्णित किया था, उसी बिहार में चुनाव मेला पूरी तरह से सज गया है। पहले चरण का चुनाव...

About Me

28 POSTS
0 COMMENTS
- Advertisement -spot_img

Latest News

नॉर्थ ईस्ट डायरी: त्रिपुरा में ब्रू और चोराई समुदायों के बीच झड़प के बाद स्थिति नियंत्रण में

उत्तरी त्रिपुरा जिले के पानीसागर उप-मंडल के दमचेरा में ब्रू और चोराई समुदायों के लोगों के बीच संघर्ष के...
- Advertisement -spot_img