Sat. Nov 28th, 2020

प्रताप भानु मेहता

1 min read

राजनीति शास्त्र की भाषा में एक बात कही जाती है- लोकतांत्रिक बर्बरता। लोकतांत्रिक बर्बरता अमूमन न्यायिक बर्बरता से पलती है।...

Enable Notifications    Ok No thanks