Saturday, January 22, 2022

Add News

लखनऊ: धर्म संसद में जहरीला भाषण देने वालों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर माले का प्रदर्शन

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

लखनऊ। मोदी सरकार के संरक्षण में देश में धर्म संसद के नाम पर अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदाय के खिलाफ हिंसा और साम्प्रदायिक दंगा फैलाने के संघी साजिश के खिलाफ आज पार्टी के राज्य व्यापी प्रतिवाद के तहत लखनऊ में भाकपा (माले) कार्यकर्ताओं ने डॉ. भीमराव अंबेडकर प्रतिमा के समक्ष प्रर्दशन किया और राष्ट्रपति को सम्बोधित दो सूत्रीय ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा।

आज अपराह्न 1 बजे भाकपा (माले) के जिला प्रभारी का रमेश सिंह सेंगर के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ता झंडा बैनर के साथ “धर्म संसद में हिंसा और दंगा फैलाने का आह्वान करने वालों को गिरफ़्तार करो ! लोकतंत्र, धर्मनिरपेक्षता और संविधान को क्षति पहुंचाने वाले आयोजनों पर सख्ती से रोक लगाओ; नफरत और हिंसा की राजनीति – नहीं चलेगी; चुनाव जीतने के लिए साम्प्रदायिक उन्माद फैलाने वालों को सिकस्त दो। सभी मोर्चों पर विफल मोदी सरकार ज़वाब दो! जनसंहार की विचारधारा नहीं चलेगी! आदि नारे लगाते हुए डॉ. भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा के सामने इकट्ठा हुए। इस अवसर पर सभा को सम्बोधित करते हुए कॉ. रमेश सिंह सेंगर ने कहा कि हरिद्वार की धर्मसंसद में जिस तरह घृणा फैलाने और मुसलमानों के खिलाफ नरसंहार रचाने यहां तक कि हिंसा करने के लिए आतंकवादी बनने तक का आह्वान किया गया वह सीधे-सीधे देश तोड़ने का षड्यंत्र है जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि धर्म संसद में मंच से सभी वक्ताओं ने हिंसा भड़काने और दूसरे धर्म के लोगों की हिंसा करने वालों को ईनाम तक देने का ऐलान किया गया जो कि देश द्रोह जैसे संगीन अपराध की श्रेणी में आता है। लेकिन पुलिस ने उन्हें अभी तक गिरफ्तार तक नहीं किया है। उन्होंने कहा कि इस तरह की धर्म संसदों का अलीगढ़ समेत देश के विभिन्न हिस्सों में आयोजन करके खुलेआम मुसलमानों के खिलाफ दंगा फैलाने और देश के अन्दर गृहयुद्ध जैसे हालात पैदा कर देने की संघी साजिश है। कॉ. सेंगर ने कहा कि लोकतंत्र, धर्मनिरपेक्षता और संविधान की रक्षा के लिए इस तरह के आयोजनों पर तुरंत सख्ती से रोक लगाना होगा।

उन्होंने मांग की कि हिंसा का आह्वान करने वाले यति नरसिंहानन्द समेत सभी को तुरंत गिरफ्तार किया जाए। प्रर्दशन में पार्टी के राज्य कमेटी के सदस्य कॉ. राधेश्याम मौर्य ने कहा कि सभी मोर्चों पर फेल भाजपा सरकारों को भारी हार से बचने के लिए और पांच राज्यों में हो रहे चुनाव में वैतरणी पार करने के लिए संघ परिवार देश को साम्प्रदायिक हिंसा में झोंक देने पर आमादा है। इस अवसर पर ऐपवा की नेत्री मीना, ऐक्टू के जिला सचिव कॉ. कुमार मधुसूदन मगन, आइसा के प्रदेश अध्यक्ष आयुष श्रीवास्तव,जसम के सह संयोजक मोहम्मद कलीम खान, निर्माण मजदूर यूनियन की सहमंत्री मंजू गौतम, का रामजीवन राना ,पार्टी की जिला कमेटी के सदस्य रामसेवक रावत, पूर्वोत्तर रेलवे मजदूर यूनियन के नेता अनिल कुमार,रजित राम आदि लोग मौजूद थे।

(प्रेस विज्ञप्ति पर आधारित।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

पुरानी पेंशन बहाली योजना के वादे को ठोस रूप दें अखिलेश

कर्मचारियों को पुरानी पेंशन के रूप में सेवानिवृत्ति के समय प्राप्त वेतन का 50 प्रतिशत सरकार द्वारा मिलता था।...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -