Sunday, March 3, 2024

सीबीआई का दिल्ली और जम्मू-कश्मीर में 9 जगहों पर छापा; सत्यपाल मलिक के निजी सचिव के परिसर भी शामिल

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक से पूछताछ के हफ्तों बाद केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) दिल्ली-एनसीआर, राजस्थान और जम्मू-कश्मीर में नौ स्थानों पर तलाशी ले रही है, जिसमें मलिक के निजी सचिव के परिसर भी शामिल हैं। यह मामला अनिल अंबानी के रिलायंस जनरल इंश्योरेंस से जुड़ी एक बीमा योजना में अनियमितताओं के आरोपों से संबंधित है। मलिक द्वारा मामले में उन्हें रिश्वत देने के प्रयास के आरोप लगाने के बाद यह मामला दर्ज किया गया था। आश्चर्य की बात यह है कि सीबीआई रिश्वत की पेशकश करने वाले संघ नेता और रिलायंस कंपनी के अधिकारियों से न तो कोई पूछताछ कर रही है और न ही उनके ठिकानों पर छापा मार रही है बल्कि जिसे रिश्वत देने की पेशकश की गई थी, उसके यहां छापा मारा जा रहा है।

सीबीआई ने पिछले महीने सत्यपाल मलिक से उनके आवास पर मामले के सिलसिले में करीब पांच घंटे तक पूछताछ की थी। सूत्रों के मुताबिक सीबीआई द्वारा दर्ज दो भ्रष्टाचार के मामलों में प्रेस सचिव सुनक बाली मुख्य संदिग्ध हैं। सूत्रों ने कहा कि जिन जगहों पर छापेमारी की जा रही है, वे मलिक के वर्तमान और पूर्व सहयोगियों से जुड़े हैं।

इनमें से एक मामला बीमा योजना में अनियमितताओं के आरोपों से संबंधित है। अक्टूबर 2021 में, मलिक ने दावा किया था कि उन्हें आरएसएस नेता द्वारा उन्हें दो फाइलों में से एक को निपटाने के लिए 300 करोड़ रुपये की रिश्वत की पेशकश की गई थी।

पिछले साल अप्रैल में, सीबीआई ने मलिक द्वारा सरकारी कर्मचारियों के लिए एक समूह चिकित्सा बीमा योजना के ठेके देने और जम्मू-कश्मीर में किरू पनबिजली परियोजना से संबंधित 2,200 करोड़ रुपये के नागरिक कार्य में लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों पर दो प्राथमिकी दर्ज की थी।

मलिक तब से खबरों में हैं जब उन्होंने दावा किया था कि फरवरी 2019 में पुलवामा आतंकी हमले को रोका जा सकता था अगर केंद्र ने सीआरपीएफ कर्मियों को स्थानांतरित करने के लिए विमान के अनुरोध को ठुकरा नहीं दिया होता।

(जनचौक की रिपोर्ट।)

जनचौक से जुड़े

5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Latest Updates

Latest

Related Articles