देश भर में ऑक्सीजन के लिए त्राहिमाम! सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से पूछा कोरोना से जंग के खिलाफ ‘नेशनल प्लान’

Estimated read time 1 min read

पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड तीन लाख 14 हजार 552 लोग संक्रमित पाए गए है। अब तक किसी एक देश में एक दिन के अंदर मिले मरीजों का यह आंकड़ा सबसे अधिक है। इसके पहले अमेरिका में सबसे ज्यादा 8 जनवरी को तीन लाख 7 हजार लोग पॉजिटिव पाए गए थे। वहीं मौतों का आंकड़ा भी बढ़ गया है। पिछले 24 घंटे में 2104 मरीजों ने दम तोड़ दिया।

कोरोना संक्रमण की वजह से दिल्ली में खराब होते हालात को देखते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने बुधवार को बड़ा निर्देश दिया है। हाई कोर्ट ने कहा है कि दिल्ली के अस्पतालों में तुरंत ऑक्सीजन पहुंचाई जाए। दरअसल, मैक्स हॉस्पिटल ने ऑक्सीजन की सप्लाई को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट का रुख किया है। अर्जी में कहा गया है कि मैक्स हॉस्पिटल पटपड़गंज और मैक्स हॉस्पिटल शालीमार बाग में कोरोना मरीजों के लिए दो घंटे की ऑक्सीजन बची है। इस पर हाई कोर्ट ने कहा कि अभी मैक्स हॉस्पिटल की अर्जी हमारे सामने है। कल दूसरे हॉस्पिटल भी होंगे। ऐसा लगता है कि सरकार ने कल के आदेश के बावजूद ऑक्सीजन की पर्याप्त सप्लाई को लेकर कुछ किया नहीं है। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को नोटिस भेजकर जानना चाहा है कि उसका नेशनल प्लान क्या है।

दिल्ली में मरीजों की बढ़ती संख्या के अनुपात में अस्पतालों में मेडिकल ऑक्सीजन की किल्लत धीरे-धीरे विकराल रूप लेती जा रही है। ताजा जानकारी के मुताबिक, दिल्ली के राजीव गांधी अस्पताल में ऑक्सीजन का संकट गहरा गया है और सिर्फ दो घंटे का स्टॉक बचा है। इस वक्त हॉस्पिटल में 900 मरीज भर्ती हैं।

दिल्ली के जनकपुरी स्थित माता चन्नन देवी अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म हो गई है। जानकारी के मुताबिक अस्पताल में 200 मरीज भर्ती हैं। अस्पताल के एमएस डॉ. एसी शुक्ला ने कहा कि अस्पताल में 200 से अधिक कोरोना के मरीज भर्ती हैं। देर रात अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने के बाद गैस कंपनी से बात की गई। गैस कंपनी का कहना था कि देर रात तीन बजे तक सप्लाई कर दी जाएगी, लेकिन गैस टैंकर नहीं पहुंचा। अभी कुछ सिलेंडर पहुंचे हैं। डॉ शुक्ला का कहना है कि यह सिलेंडर सिर्फ कुछ घंटे तक हालात को संभाल सकते हैं। पूरी सरह स्थिति सामान्य होने के लिए टैंकर का आना ज़रूरी है। उन्होंने कहा कि अस्पताल में करीब 50 मरीज ऐसे हैं जिन्हें ऑक्सीजन की जरूरत है।

दिल्ली में कोरोना संकट लगातार गहराता जा रहा है। एक तरफ अस्पतालों में बेड की कमी है, तो दूसरी तरफ अस्पताल में भर्ती मरीजों के लिए ऑक्सीजन की किल्लत बनी हुई है। कई अस्पताल ऐसे हैं, जहां कुछ ही घंटों की ऑक्सीजन बाकी है। दिल्ली में कोरोना के गंभीर होते हालातों के बीच उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बीच समीक्षा बैठक होगी। बैठक में ऑक्सीजन, बेड्स और पलायन की स्थिति पर समीक्षा की जाएगी।

वहीं उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के चरक अस्पताल का एक ऑडियो वायरल हुआ है। जहां मरीज के परिजनों को फोन करके बताया जा रहा है कि ऑक्सीजन नहीं है, अपने मरीज को ले जाइए। वायरल ऑडियो मरीज के परिजन और एक अस्पताल के स्टॉफ के बीच बातचीत का बताया जा रहा है।

मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में ऑक्सीजन नहीं
वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के हॉस्पिटल में 10 घंटे का ही ऑक्सीजन रिजर्व बचा है। वाराणसी के DM ने कहा है कि नए मरीजों को न भर्ती करें।

You May Also Like

More From Author

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments