राज्य

कोरोना के खतरे के बीच यूपी में निकलेगी कांवड़ यात्रा, योगी ने अधिकारियों को दिए व्यवस्था के निर्देश

कोरोना के नाम पर उत्तर प्रदेश में भले ही अभी तक स्कुल कालेज विधिवत न खोले गये हों, हाईकोर्ट और लोअर कोर्ट में शारीरिक सुनवाई न शुरू हो पाई हो, विवि बंद हो, शनिवार और रविवार को पूर्ण लॉकडाउन हो पर सावन के माह में होने वाली कांवड़ यात्रा अवश्य निकली जाएगी।

बीते वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण कांवड़ यात्रा को स्थगित कर दिया गया था। इस बार सरकार बीते वर्ष की कमी को पूरा करने की तैयारी में लगी है। इस बार कांवड़ यात्रा 25 जुलाई से शुरू होकर अगस्त के तीसरे हफ्ते तक चलेगी। इसको सफल बनाने के निर्देश जारी किये गए हैं। 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सावन के माह में होने वाली कांवड़ यात्रा को सुचारु रूप से पूरा करवाने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। सीएम योगी ने मंगलवार को समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियों को प्रदेश में कांवड़ यात्रा को सफल बनाने का निर्देश दिया है। इस बाबत मुख्यमंत्री ने कहा कि पड़ोसी राज्यों उत्तराखंड और बिहार से बात कर संवाद स्थापित कर कांवड़ यात्रा को पूरा किया जाए। इस दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का भी पूरी तरह पालन किया जाए।

सीएम ने अफसरों को निर्देश दिया कि 25 जुलाई से शिवभक्तों की परंपरागत कांवड़ यात्रा प्रारंभ हो रही है। श्रद्धालुओं की बड़ी संख्या उत्तराखंड और बिहार आदि राज्यों में जलाभिषेक के लिए जाती है। कोविड काल को दृष्टिगत रखते हुए संबंधित राज्यों से संवाद कर यात्रा के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए जाएं।

बीते वर्ष कोरोना वायरस संक्रमण के कारण कांवड़ यात्रा को स्थगित कर दिया गया था। इस बार सरकार बीते वर्ष की कमी को पूरा करने की तैयारी में लगी है। इस बार कांवड़ यात्रा 25 जुलाई से शुरू होकर अगस्त के तीसरे हफ्ते तक चलेगी। इसको सफल बनाने की योजना के निर्देश भी जारी किये गए हैं। कोरोना वायरस संक्रमण काल में हो रही कांवड़ यात्रा को बिल्कुल सुरक्षित ढंग से कराने की भी योजना को अंतिम रूप दिया गया है।

सीएम ने निर्देश दिया कि कोविड काल को ध्यान में रखते हुए कांवड़ यात्रा को सुचारू रूप से चलाया जाए। शिवभक्तों की परंपरागत कांवड़ यात्रा 25 जुलाई से शुरू होगी। सभी कांवड़ मार्ग को दुरुस्त कर लें। रास्ते में शिवभक्तों के रुकने की व्यवस्था के साथ ही इनकी चिकित्सा के इंतजाम को भी परख लें। योगी आदित्यनाथ सरकार हर वर्ष कांवड़ यात्रा के लिए विशेष इंतजाम भी करती रही है। प्रदेश में उनके स्वागत में कई जगह हेलिकॉप्टर से पुष्प वर्षा आदि भी की जाती है।

उत्तराखंड में इस वर्ष भी कांवड़ यात्रा प्रतिबंधित करने का ऐलान किया गया है। बीते दिनों उत्तराखंड के डीजीपी ने आठ राज्यों के अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि यात्रा पर प्रतिबंध है, ऐसे में यहां जो भी आएगा, हो सकता है उसे 14 दिन के लिए क्वारंटीन कर दिया जाए। इतना ही नहीं स्थानीय लोगों के लिए भी यात्रा प्रतिबंधित रहेगी।

This post was last modified on July 7, 2021 11:54 am

Share
Published by
%%footer%%