Wednesday, December 1, 2021

Add News

हेमंत सोरेन

आदिवासी हिंदू क्यों नहीं हैं?

भारत में अनुसूचित आदिवासी समूहों की संख्या 700 से अधिक है। भारत में 1871 से लेकर 1941 तक हुई जनगणनाओं में आदिवासियों को अन्य धर्मों से अलग धर्म में गिना गया। जैसे 1871 में ऐबरजिनस (मूलनिवासी), 1881 और 1891...

हेमंत सरकार में भी बेरोकटोक जारी है अवैध खनन, गांव वालों ने किया प्रदर्शन

झारखंड में सरायकेला खरसावां के अंतर्गत राजनगर प्रखंड सह अंचल कार्यालय पर 18 जनवरी को ग्रामसभा के बगैर अनुमति से हो रहे अवैध पत्थर खनन के खिलाफ उपरशिला ग्रामसभा ने विरोध प्रदर्शन किया और अंचल अधिकारी को ज्ञापन सौंपा।...

झारखंडः पुलिस ने फरियादियों को सीएम से मिलने से रोका तो लोग हुए उग्र

झारखंड के रांची में शाम को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से फरियादियों को मिलने से रोके जाने पर जम कर बवाल हुआ। खबर के मुताबिक मुख्यमंत्री का काफिला किशोरगंज से गुजरना वाला था, तभी अचानक लगभग 200 की संख्या में...

झारखंड: मुख्यमंत्री बनते ही पत्थलगड़ी केस वापस लेने का वादा भूल गए हेमंत

झारखंड जनाधिकार महासभा ने पत्थलगड़ी मामलों की स्थिति की समीक्षा और झारखंड में हो रहे मानवाधिकार हनन की घटनाओं की विवेचना के लिए रांची के एचआरडीसी में सेमिनार का आयोजन किया। इसमें अनेक जन संगठनों और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने...

झारखंड: ढोलकट्टा गांव में सीआरपीएफ ने अंत्येष्टि में आए ग्रामीणों को पीटा

झारखंड में सरकार बदल गई है, लेकिन अर्द्धसैनिक बलों (सीआरपीएफ) की गुंडागर्दी जारी है। सीआरपीएफ जब भाकपा (माओवादी) के खिलाफ अभियान चलाने के लिए जंगलों में जाती है, तो वहां ग्रामीणों को भी बेवजह पीटने और गाली-गलौच करने से...

झारखंड विधानसभा उप चुनाव: दोनों ही सीटें महागंठबंधन के खाते में

झारखंड विधानसभा की दो सीटों पर हुए उप चुनाव में महागठबंधन ने बाजी मारकर भाजपा के भावी मंसूबे पर पानी फेर दिया है। महागठबंधन के बेरमो से कांग्रेसी उम्मीदवार जयमंगल सिंह और दुमका से झामुमो उम्मीदवार बसंत सोरेन ने...

झारखंडः मनरेगा कर्मियों की राज्यव्यापी हड़ताल, मजदूरों के सामने आ सकता है भुखमरी का संकट

झारखंड में मनरेगा कर्मियों की अपनी पांच सूत्री मांगों को लेकर 27 जुलाई से शुरू हुई अनिश्चितकालीन राज्यव्यापी हड़ताल पर सरकार द्वारा अभी तक कोई सार्थक पहल नहीं हो सकी है। इसके परिणाम स्वरूप राज्य के मनरेगा मजदूरों की...
- Advertisement -spot_img

Latest News

कृषि कानूनों में काला क्या है-11: केरल में एमएसपी से बाहर हैं नारियल, काजू, रबर, चाय, कॉफी और मसाले

तीनों काले कृषि कानून वापस हो चुके हैं। 29 नवम्बर को कानून वापसी का प्रस्ताव संसद के दोनों सदनों...
- Advertisement -spot_img