Tuesday, January 18, 2022

Add News

agriculture

झांसी: 20 लाख का डोसा खाने के बाद 17 लाख का पानी कागजों पर पी गए कृषि विभाग के अफसर

झांसी। जनपद में किसानों के लिए होने वाली गोष्ठी के नाम पर कृषि विभाग के अफसरों ने बीस लाख रुपये के डोसे का भुगतान कर धनराशि की आपस में बंदरबांट कर ली जबकि जिले भर के किसी भी किसान...

किसान आंदोलन के नौ महीने (1): भारत के जनांदोलनों के इतिहास के असाधारण संग्राम की विशेषताएं

26 अगस्त को नौ महीने पूरे कर रहे किसान आंदोलन को किसी परिचय या भूमिका की आवश्यकता नहीं है।  यहां सीधे इसकी कुछ विशेषताओं पर आते हैं।   इस असाधारण किसान आन्दोलन की इन सबसे भी कहीं ज्यादा बुनियादी और दूरगामी छाप छोड़ने...

नया कृषि क़ानून लागू होता तो सरकार अभी दालों पर स्टॉक की सीमा नहीं लगा पाती

महँगाई से जनता हाहाकार कर रही है। पेट्रोल, डीज़ल, रसोई गैस, सरसों का तेल, दालें और सब्ज़ियों के दाम में लगी आग कहाँ जाकर और कब थमेगी, इसके बारे में शायद प्रधानमंत्री के सिवाय, कोई भी कुछ नहीं जानता।...

किसानों के जमावड़े के कल 200 दिन हो जाएंगे पूरे

लगातार चल रहा किसान आंदोलन भारत की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की ओर जाने वाले मुख्य राजमार्गों पर कल 200 दिनों के विरोध प्रदर्शन को पूरा कर लेगा।  26 नवंबर 2020 को दिल्ली की सीमाओं पर लाखों आंदोलकारियों के पहुंचने...

भारत एक गंदगी प्रधान देश है!

हमारा भारत देश महान है। विदेशियों (पश्चिमी देश वाले) का कहना है कि भारत सपेरों, नटों और ठगों (भिखारियों से लेकर टैक्सी व ऑटो ड्राइवर और होटलों के दलालों तक) का देश है। दावा है कि अब सरकार ने...

किसान आंदोलन के छह महीने पूरे होने के बाद आखिर क्या है आगे का रास्ता?

ऐतिहासिक किसान आंदोलन जो पिछले 6 महीने से दिल्ली की सरहदों पर चल रहा है। 26 नवम्बर को जब किसान दिल्ली की तरफ कूच कर रहे थे उस समय मीडिया ने सवाल पूछा था कि कब तक के लिए...

हिसार किसान मोर्चे का चेहरा बन गयी हैं रीमन नैन

रीमन नैन, कृषि से संबंधित 3 कानूनों के खिलाफ पिछले 5 महीनों से हिसार-चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित बाडोपट्टी टोल प्लाजा पर अपने आस-पास के 58 गांव की जोशीली महिलाओं का नेतृत्व कर रही हैं। 24 वर्षीय युवती रीमन...

जंह जंह पांव पड़े कॉरपोरेट के, तंह तंह खेती का बंटाढार

सार रूप में कहानी यह है कि आधी रात में अलाने की भैंस बीमार पड़ी। बीमारी समझ ही नहीं आ रही थी। उन्हें किसी ने बताया कि ठीक यही बीमारी गाँव के फलाने की भैंस को भी हुयी थी।...

बीजेपी के बंगाल में सत्ता के सपनों पर किसान मोर्चे का तुषारापात

किसान आंदोलन की गूंज बंगाल के चुनाव में सुनाई देने लगी है। किसान एकता मंच ने एक अपील देश के उन राज्यों जहां फिलहाल चुनाव हो रहे हैं, के मतदाताओं से की है, कि वे देश और जनहित में...

सहजानंद जयंती पर तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग के साथ पटना में किसान मार्च

बिहार में अंग्रेजी कंपनी राज व जमींदारी व्यवस्था के खिलाफ चले जुझारू किसान आंदोलन के महान नेता स्वामी सहजानंद सरस्वती की जयंती पर आज पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के तहत भाकपा-माले व अखिल भारतीय किसान महासभा के संयुक्त बैनर तले...
- Advertisement -spot_img

Latest News

पुस्तक समीक्षा: सर सैयद को समझने की नई दृष्टि देती है ‘सर सैयद अहमद खान: रीजन, रिलीजन एंड नेशन’

19वीं सदी के सुधारकों में, सर सैयद अहमद खान (1817-1898) कई कारणों से असाधारण हैं। फिर भी, अब तक,...
- Advertisement -spot_img