Saturday, March 25, 2023

Bahadur Shah Zafar

दिवाली का आधुनिक कलेवर मुग़ल काल में ही निर्मित हुआ

दिवाली का जश्न पौराणिक के साथ-साथ भारतीय संस्कृति का प्रतीक है। शास्त्रों में इसे मान्यता भी प्राप्त है और इस त्योहार का मूल तत्व बुराई पर अच्छाई की विजय है। दिवाली प्रेम, भाई-चारा और उल्लास का संदेश पूरी दुनिया...

हमारे जमीनों, घरों पर कब्जा करने का साधन है एनआरसी-सीएए

जंतर मंतर पर ‘संविधान बचाओ देश बचाओ’ के नारे के साथ सीएए-एनआरसी-एनपीआर के खिलाफ़ महिलाओं ने विरोध प्रदर्शन किया। इस विरोध प्रदर्शन में हिंदू-मुस्लिम समुदाय के कई महिला संगठनों ने हिस्सा लिया।    भारतीय राष्ट्रवादी संघ की मीनाक्षी सखी ने कहा,...

नागरिकता बिलः सेकुलर, लोकतांत्रिक गणराज्य को कठमुल्ला तंत्र में बदलने की घोषणा

इस विधेयक का विरोध इसलिए नहीं करना चाहिए कि यह मुसलमानों के साथ अन्याय करता है। इस विधेयक का विरोध इसलिए करना चाहिए, ​क्योंकि यह बिल 50 साल तक लड़ी गई आजादी की लड़ाई और 72 साल में निर्मित...

Latest News

सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता के बिना स्वस्थ लोकतंत्र नहीं पनप सकता- डी वाई चन्द्रचूड़

जैसे मैं पत्रकारिता और कानून के प्रोफेशन के बारे में सोच रहा था तो, मुझे इस बात का अहसास...