Thursday, February 2, 2023

china

कितनी अहम है चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की 20वीं कांग्रेस?

कल से चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की 20वीं कांग्रेस शुरू हो गई है । दुनिया के कम्युनिस्ट आंदोलन के जानकारों के लिए ‘20वीं कांग्रेस’ पद ही खुद में एक रोमांचकारी पद है । सोवियत संघ की कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीएसयू)...

विचारधारा पर संशय व नेतृत्व का संकट

जिन लोगों को लगता है यह व्यवस्था पूंजीपतियों के लिए है और इसमें बहुसंख्यक जनता न्यूनतम जरूरतें भी पूरी नहीं कर सकती, वे इस व्यवस्था को बदलने के लिए लंबे समय से संघर्षशील रहे हैं। पिछले आठ सालों में...

विश्व नेता बनने की चाह या अमेरिका का पिछलग्गू बनने की राह

समरकंद में हुए शंघाई सहयोग संगठन के सम्मेलन के अवसर पर रूस के राष्ट्रपति के साथ द्विपक्षीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 16 सितंबर 2022 के अपने उद्घाटन भाषण में कहा- "मैं जानता हूँ कि आज का युग...

ताइवान, चीन और अमेरिका: फिर कसौटी पर भारतीय विदेश नीति

‘दुनिया के चौधरी’ अमेरिका को दो पक्षों की लड़ाई में दाल-भात में मूसलचंद बनकर कहें या विश्व शांति को खतरे में डालकर भी फायदा उठाने व स्वार्थ साधने का लाइलाज मर्ज है तो चीन की विस्तारवादी नीति दुनिया के...

चीन के साथ कम होने की जगह बढ़ता ही जा रहा है भारत का व्यापार

भारत-चीन तनाव के बावजूद वर्ष 2021 में व्यापार में 43.3% की अभूतपूर्व बढ़ोत्तरी हुई है। कुल व्यापार अब 126 अरब डॉलर पर पहुँच गया है। चीन के सरकारी अखबार द ग्लोबल टाइम्स की 14 जनवरी की यह खबर इस समय...

मोदी जी के बैरी भाई चीनी खुफिया एजेंसी के जासूस हैं!

आप जानते हैं यह कौन हैं? .......नही जानते होंगे! .....ये 'बैरी भाई' हैं जी हाँ जैसे मेहुल भाई वैसे ही 'बैरी भाई' ......इन्हें मोदी सरकार ने 2020 में पब्लिक सर्विस करने के लिए पदम् श्री दिया था......पब्लिक सर्विस यानी...

भारत की चीन नीतिः आखिर इस उलझन की जड़ें कहां हैं?

उन्नीस जून 2020 को हुई सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस बयान को सुन कर सारा देश सन्न रह गया था कि लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर ‘ना तो कोई भारत के अंदर घुसा है,...

सीमा पर चीनी हरकतों पर भारत की कड़ी प्रतिक्रिया, कहा- सब कुछ असमर्थनीय और हास्यास्पद

आखिरकार भारत सरकार ने लद्दाख इलाके में स्थित पैंगांग त्सो झील पर चीन द्वारा पुल बनाए जाने की बात को स्वीकार कर लिया है। इसके साथ ही उसने अरुणाचल में कुछ इलाकों के नामकरण को मूर्खतापूर्ण कार्यवाही बताते हुए...

चीन की लगातार चुनौती पर भारत सरकार की शर्मनाक चुप्पी

लद्दाख में घुसपैठ कर कई चोटियों पर कब्जा कर लेने के बाद चीन के हौसले बुलंदी पर हैं। अब वह अरुणाचल प्रदेश में अपनी कारस्तानी से भारत की संप्रभुता को चुनौती दे रहा है। वह पहले से कहता रहा...

अमेरिका बनाम चीनः लोकतंत्र पर छिड़ा वैचारिक संग्राम

अमेरिकी राजनीति-शास्त्री फ्रांसिस फुकुयामा की मशहूर किताब ‘The End of History and the Last Man’ 29 साल पहले प्रकाशित हुई थी। उसके एक साल पहले यानि 1991 में सोवियत संघ का विखंडन हुआ था। उसके पहले 1989 में फुकुयामा...

Latest News

अडानी इंटरप्राइजेज ने अपना एफपीओ वापस लिया, कंपनी लौटाएगी निवेशकर्ताओं का पैसा

नई दिल्ली। अडानी इंटरप्राइजेज ने अपना एफपीओ वापस ले लिया है। इसके साथ ही 20 हजार करोड़ के इस...