Monday, February 6, 2023

death

ग्राउंड रिपोर्ट: पूर्वांचल में भीषण उमस और गर्मी के बीच इलाज के अभाव में बेमौत मर रहे हैं डेंगू मरीज

मिर्जापुर। देश के बड़े शहरों, महानगरों से डेंगू बुखार होता हुआ अब नगर, कस्बों और ग्रामीण क्षेत्रों में भी तेजी के साथ पांव पसारने लगा है। डेंगू पीड़ितों की संख्या दिन प्रतिदिन न केवल बढ़ रही है, बल्कि कई...

मुलायम के निधन पर राजनीतिक शिष्टाचार भी भूल गयी उत्तराखंड सरकार 

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के निधन पर ना तो उत्तराखण्ड सरकार की ओर से कोई आधिकारिक विज्ञप्ति जारी कर शोक जाहिर किया गया और ना ही शासक दल ने कोई दुख या शोक प्रकट किया...

‘आदमखोर’ क्यों बन जाता है बाघ?  

एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार बिहार के पश्चिमी चम्पारण जिले में आठ अक्टूबर को मारे गए बाघ के बारे में किए गए फैसले के मुताबिक उसे मार गिराना बहुत जरूरी हो गया था। सात अक्टूबर को उसे देखते ही मार...

मुलायम सिंह यादव: अलग-अलग दौर में अलग-अलग मुलायम

चौधरी चरण सिंह के बाद उत्तर प्रदेश के किसानों और पिछड़ों के बीच जिस नेता ने सर्वाधिक लोकप्रियता हासिल की, वह मुलायम सिंह यादव ही थे। सन् साठ और सत्तर के दशक में उन्होंने सोशलिस्ट कार्यकर्ता के तौर पर...

ग्राउंड रिपोर्ट: मौजूदा व्यवस्था व सरकारी नीतियों की बलि चढ़ा एक और छात्र, इल्जाम एक बार फिर मोहब्बत के नाम

प्रयागराज। इलाहाबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी के ताराचंद हॉस्टल के कमरा नंबर 208 में एक छात्र आशीष तिवारी पुत्र सत्यनारायण तिवारी ने पंखे से लटककर जान दे दी। मरहूम छात्र आशीष तिवारी निवासी सैबसी, थाना ललौली, जनपद फ़तेहपुर का निवासी था...

महसा अमीनी की कस्टोडियल हत्या के ख़िलाफ़ ईरान में महिलाओं ने उतारे हिजाब, लगाये ‘तानाशाह को मौत’ के नारे

महसा अमीनी के अंतिम संस्कार के बाद ईरान में शुरू हुए विरोध प्रदर्शन में बड़ी संख्या में महिलाओं ने हिजाब हटाकर प्रदर्शन किया, जिसके बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर फायरिंग कर दी, जिसमें काफी लोग घायल हुये हैं। प्रदर्शनकारी महिलाओं...

उत्तर प्रदेश: वहशत भला जाती क्यों नहीं है?

अब उत्तर प्रदेश में जंगल राज की चर्चा नहीं होती। इसका एक कारण तो यह है कि अपने खास चरित्र के बन्दी मीडिया ने 2017 में अखिलेश के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी का राज खत्म होते ही उसको खत्म...

मेरी रॉयः एक विदुषी जो सामाजिक योद्धा भी थीं

केरल की विख्यात शिक्षाविद् और महिला अधिकार कार्यकर्ता मेरी रॉय (1933-2022) नहीं रहीं। वह सुप्रसिद्ध अंग्रेजी लेखिका और विचारक अरुंधति रॉय की मां थीं।  मेरी रॉय से हमारी पहली मुलाकात सन् 2006 में हुई। उनका लंबा इंटरव्यू किया, जो उसी साल...

उत्तराखंड स्पेशल: आपदा आते ही फेल हो जाता है सिस्टम

देहरादून। साल बीतते न बीतते उत्तराखंड एक बार फिर आपदा की चपेट में है और आपदा आते ही एक बार फिर पूरा सिस्टम लाचार नजर आ रहा है। ऐसा हमने इस राज्य में पहले भी देखा है। 2013 की...

उत्तराखंड में फिर तबाही; कहीं बादल फटा, कहीं अतिवृष्टि

देहरादून। उत्तराखंड में मॉनसून अब तक बेशक कमजोर रहा हो, लेकिन मॉनसून में आखिरी पड़ाव खतरनाक साबित हो रहा है। परसों यानी 19 अगस्त से राज्य के अनेक हिस्सों में शुरू हुआ बारिश का सिलसिला लगातार जारी है। इस...

Latest News

जमशेदपुर में धूल के कणों में जहरीले धातुओं की मात्रा अधिक-रिपोर्ट

मेट्रो शहरों में वायु प्रदूषण की समस्या आम हो गई है। लेकिन धीरे-धीरे यह समस्या विभिन्न राज्यों के औद्योगिक...