Monday, November 29, 2021

Add News

human

स्टेन स्वामी आखिर सत्ता प्रतिष्ठान की आंख के क्यों बने हुए थे कांटे

कुछ साल पहले, जब में एण्डियन पर्वत श्रृंखला पर स्थित बोलिवियन राजधानी ला पाज़़ गया था, मैंने एक रेस्त्रां में लगा बोर्ड  देखा, जिस पर स्पैनिश भाषा में लिखा था ‘सभी मानव बराबर हैं’। शहर में मैंने जो सप्ताह...

मोदी ने बना लिया है देश के लोकतंत्र को बंधक

पेगासस गेट और कुछ नहीं देश की तबाही की घंटी है। यह बताता है कि मोदी-शाह ने पूरे लोकतंत्र को बंधक बना लिया है। इस देश में लोगों की अब कोई निजता नहीं रही। अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और बोलने...

प्रलय को दावत देने सरीखा है प्रकृति से छेड़छाड़

उत्तराखंड के चमोली जिले में 7 फरवरी 2021 को कुदरत ने 10.30 से 11 बजे के बीच सिर्फ आधे घंटे में ही आधुनिक विज्ञान युग के वैज्ञानिक उपकरणों से लैस कथित आधुनिक मानव के कथित शक्ति के दंभ को...

माननीय! आप मानवाधिकारों या मोदी सरकार, किसके हैं रक्षक?

प्रिय न्यायमूर्ति अरुण मिश्र, कुछ सप्ताह पहले जब मलयालम के एक समाचार पत्र में एक रिपोर्ट छपी कि आपने अपना सरकारी आवास नहीं छोड़ा है। जबकि आप सर्वोच्च न्यायालय से सितंबर 2020 में रिटायर हो गए थे। सामान्य तौर पर,...

आलोचकों, किसान आंदोलन के समर्थकों को निशाना बना रहा है सरकारी तंत्र: ह्यूमन राइट्स वॉच

न्यूयॉर्क। भारत सरकार ने किसान आंदोलन से निपटने के अपने तौर-तरीकों की बढ़ती अंतरराष्ट्रीय आलोचना के जवाब में जिस प्रकार की कार्रवाइयां की हैं, वे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और निजता के अधिकारों का उल्लंघन करती हैं, एक्सेस नाउ, आर्टिकल 19, एसोसिएशन फॉर प्रोग्रेसिव कम्युनिकेशंस, कमेटी टू...

भारत में नहीं हैं अल्पसंख्यक सुरक्षित, किसानों के अधिकारों पर भी हो रहा हमला:ह्यूमन राइट्स वॉच

न्यूयॉर्क। ह्यूमन राइट्स वॉच ने कहा है कि भारत में सरकारी तंत्र ने मुसलमानों के खिलाफ सुव्यवस्थित रूप से भेदभाव करने और सरकार के आलोचकों को बदनाम करने वाले कानूनों और नीतियों को अपनाया है। सत्तारूढ़ हिंदू राष्ट्रवादी भारतीय...

बिहार में आयोजित हुई तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ ऐतिहासिक मानव श्रृंखला

पटना। तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ महात्मा गांधी के शहादत दिवस पर आज महागठबंधन के आह्वान पर आहूत मानव श्रृंखला में खेतिहर मजदूरों-गरीब किसानों-बटाईदार किसानों, महिलाओं, बुद्धिजीवियों ने अपनी जोरदार मौजूदगी दर्ज करायी। बिहार के शहरी इलाकों से लेकर...

किसान आंदोलन को समर्पित रहा महेंद्र सिंह का शहादत दिवस, श्रद्धांजलि सभा में बिहार के सभी माले विधायक रहे मौजूद

झारखंड। सीपीआई (एमएल) के दिवंगत नेता कॉमरेड महेंद्र सिंह का 16वां शहादत दिवस किसानों के खिलाफ लाए गए तीनों काले कानूनों को रद्द करने की मांगों को लेकर चल रहे किसान आंदोलन को समर्पित रहा। पूरे झारखंड में अलग-अलग...

कृषि कानून के खिलाफ बिहार में 25 के बदले अब 30 जनवरी को मानव श्रृंखला

पटना। किसान विरोधी तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने, बिजली बिल 2020 वापस लेने, न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान खरीद की गारंटी करने, धान खरीद की सीमा समाप्त करने, बिहार में मंडियों को फिर से बहाल करने आदि मांगों...

किसानों ने भी उठायी राजनीतिक कैदियों की रिहाई की मांग

गुरुवार, 10 दिसंबर विश्व मानवाधिकार दिवस के मौके पर टिकरी बॉर्डर पर किसानों ने जेलों में बंद विचाराधीन सभी सामाजिक और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की रिहाई की मांग की। यह मांग कोई छिपा हुआ एजेंडा या अचानक से उठी इच्छा...
- Advertisement -spot_img

Latest News

भारत-माता का संदर्भ और नागरिक, देश तथा समाज का प्रसंग

'भारत माता की जय' भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन के दौरान सबसे अधिक लगाया जाने वाला नारा था। भारत माता का...
- Advertisement -spot_img