Wednesday, October 20, 2021

Add News

magazine

ग्लोबल वार्मिंग और आकाशीय बिजली का अन्तर्सम्बन्ध

अभी पिछले दिनों आकाशीय बिजली गिरने से राजस्थान और उत्तर प्रदेश में बहुत से लोग अकाल कलवित हो गए। भारतीय मौसम विभाग के अनुसार भारत में हर साल औसतन 2000 लोग आकाशीय बिजली गिरने से अपना अमूल्य जीवन खो...

जयंती पर विशेष: ‘नई कहानी’ और ‘समांतर कहानी’ आंदोलन के जनक कमलेश्वर

हिन्दी साहित्य में कथाकार कमलेश्वर का शुमार उन साहित्यकारों में होता है, जिन्होंने कहानी को नई दिशा प्रदान की। हिन्दी कहानी का आज जो स्वरूप दिखाई देता है, उसमें उनका अमूल्य योगदान है। कहानी और नई कहानी का जब...

जयंतीः जोश मलीहाबादी की रगों में दौड़ता था इंकलाब!

उर्दू अदब में जोश मलीहाबादी वह आला नाम है, जो अपने इंकलाबी कलाम से शायर-ए-इंकलाब कहलाए। जोश का सिर्फ यह एक अकेला शेर, काम है मेरा तगय्युर, नाम है मेरा शबाब/मेरा नाम ‘इंकलाबो, इंकलाबो, इंकिलाब, ही उनके तआरुफ और...

पीएम मोदी पर अशालीन टिप्पणी करने वाले शख्स को सरकारी पत्रिका का संपादक बनाए जाने पर उत्तराखंड में बवाल

नई दिल्ली। उत्तराखंड में एक मसले को लेकर बीजेपी के अंदरूनी सर्किल में खलबली मच गयी है। यह मामला सूचना विभाग की पत्रिका के संपादक पद पर प्रमोद रावत की नियुक्ति का है। दरअसल प्रमोद को कांग्रेस की पृष्ठभूमि...

जन्मदिन पर विशेष: “दुःख की बदली महादेवी का पाथेय”

छायावाद स्व के अस्तित्व को समझने के लिए अन्तर्मन के गहरे पानी पैठने का युग है। इस दौर के चारों स्तम्भों- प्रसाद, पन्त, निराला और महादेवी वर्मा ने स्व-अन्वेषण के निष्कर्षों की अभिव्यक्ति गद्य एवं पद्य दोनों रूपों में...

‘समयांतर’ में अटकी है हिंदी की राजनीतिक और वैचारिक पत्रकारिता की जान: असद जै़दी

हिन्दी के वरिष्ठ कवि, गद्यकार और विचारक असद ज़ैदी ने कहा कि हिन्दी पत्रकारिता में बतौर संपादक पंकज बिष्ट से ज़्यादा योगदान शायद ही किसी का रहा हो। इस बेशर्म युग में हिन्दी की राजनीतिक और वैचारिक पत्रकारिता की...

पंकज बिष्ट: आक्रोश, प्रतिवाद एवं प्रतिरोध को स्वर देता एक प्रबुद्ध संपादक

( साहित्यकार, संपादक और लेखक पंकज बिष्ट कल 75 वर्ष के हो रहे हैं। इसके साथ ही उनके संपादकत्व में निकलने वाली मैगनजीन 'समयांतर' भी अपना 20वां साल पूरी कर रही है। पंकज बिष्ट के जीवन का बड़ा हिस्सा...
- Advertisement -spot_img

Latest News

घर बह गए, कई जानें गयीं! नैनीताल में चौतरफा तबाही का मंजर

उत्तराखंड के नैनीताल जनपद की रामगढ़ और धारी विकासखंड में लगातार 3दिन से हुई बारिश से मुक्तेश्वर रामगढ़ क्षेत्र...
- Advertisement -spot_img