Tuesday, October 26, 2021

Add News

oushvitsa

तानाशाही की रात, कोहरे की क़ैद और अलां रेने

तानाशाह किस हद तक बर्बर, अमानवीय और हिंसक हो सकते हैं इसके दो बड़े उदाहरण अतीत से उठाकर हम हमेशा इस्तेमाल करते रहे हैं उनमें से एक है ‘हिरोशिमा’ और दूसरा ‘आउशवित्स’ (नाज़ी यातना शिविर)। इस साल आउशवित्स यातना...
- Advertisement -spot_img

Latest News

एलोपैथी विवाद में रामदेव के खिलाफ दायर याचिका को ऐसे ही खारिज नहीं किया जा सकता: दिल्ली हाईकोर्ट

बाबा रामदेव जी दिल्ली हाईकोर्ट कोई गोदी मीडिया नहीं है जिसे आप विज्ञापन के नाम पर ब्लैकमेल करते हो...
- Advertisement -spot_img