Wednesday, October 27, 2021

Add News

peasant movement

किसान आंदोलन में हुई शादी, अग्नि की जगह अंबेडकर और सावित्री को साक्षी मान लिए गये फेरे

अभी तक किसान आंदोलन स्थलों से किसानों की मौत और मैय्यत उठने की ख़बरें आती थीं। लेकिन पहली बार किसान आंदोलन स्थल से शादी के फेरों और डोली उठने की ख़बर आ रही है। इस एक शादी के बाद...

अदालतों ने बजाई आजादी की घंटी

जब-जब हमारी उम्मीद टूटने लगी है, तब तब एक संकेत जरूर उभरा है कि व्यक्ति स्वातंत्र्य की सुरक्षा कोई गुम हुआ अभियान नहीं है। जब भारत पर विदेशियों का शासन था, तब भारत में यह विचार बहुत देर से...

एकाधिकार और नियंत्रण के बीच मीडिया की छटपटाहट

2020 की वैश्विक प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक में भारत साल 2019 के 140वें स्थान से भी दो स्थान नीचे खिसक कर 142वें पर पहुंच गया था। आशंका है कि 2021 की सूची में स्थिति और बदतर हो सकती है। मीडिया...

12 जनवरी से जेल में बंद नवदीप को मिली ज़मानत, पुलिस पर यातना देने का लगाया आरोप

पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने गुरुवार 26 फरवरी को दलित लेबर एक्टिविस्ट नवदीप  कौर को जमानत दे दी। कौर के खिलाफ तीन एफआईआर दर्ज की गई हैं, जिनमें से एक मामले में उन्हें जमानत दी गई है, दो...

पंजाब निकाय चुनाव में दो तिहाई सीटों पर उम्मीदवार तक नहीं ढूंढ पाई है भाजपा

पंजाब में 14 फ़रवरी को निकाय चुनाव होने हैं। यहां आठ नगर निगमों की 2,302 सीटों पर होने वाले निकाय चुनाव और 109 नगर पंचायतों में मतदान होने वाला है, लेकिन कृषि कानून के मुद्दे को लेकर पंजाब में...

लोकतंत्र में लोक के निर्णय को राजा सुनता है, आज राजा का निर्णय लोक को मानना पड़ रहाः शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद

द्वारका पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद ने कहा है कि सरकार को किसान आंदोलन का तत्काल हल निकालना चाहिए। किसानों का पानी रोका जा रहा है। यह कैसी सरकार है? नोटबंदी, किसान बिल लाकर सरकार केवल एक पक्षीय निर्णय...

नवदीप कौर की गिरफ्तारी के खिलाफ अमरीकी उप राष्ट्रपति की भतीजी मीना हैरिस ने बुलंद की आवाज

अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की भतीजी मीना हैरिस ने जेल में बंद श्रम अधिकार कार्यकर्ता नवदीप कौर के लिए आवाज उठाई है। मीना ने ट्विटर पर लिखा है कि यह देखना बेहद अजीब है कि एक कट्टरपंथी भीड़ आपकी...

किसान आंदोलनः हिंदुत्व के महाख्वाब से बाहर आकर अपनी जड़ों की तरफ लौटने को तत्पर गांव

हां, दिल के करीब है खेती-किसानी। और, दिमाग के? ढेरों सवाल उमड़ पड़ते हैं। खेती करना घाटे का सौदा है; यहां तो बस जिंदगी थमी सी रहती है; काम करते जाओ बैल की तरह और बस उस जैसा ही...

किसानों का दमन नहीं हो सकता आंतरिक मामला

जन सरोकारों, नागरिक अधिकारों, मौलिक अधिकारों और सम्मान से जीने के अधिकारों को किसी राज्य या देश की सीमा में बांट कर नहीं रखा जा सकता है। आज किसान आंदोलन भी सम्मानपूर्वक जीने और अपनी कृषि संस्कृति को बचाने...

गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर किसान कानून के खिलाफ बिहार भर में निकाला गया मशाल जुलूस, भाकपा-माले ने किया था आह्वान

पटना। तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने और एमएसपी को कानूनी दर्जा देने की मांग पर आज पूरे बिहार में मशाल जुलूस का आयोजन किया गया। भाकपा-माले ने इसका राज्यव्यापी आह्वान किया था। पटना में शाम पांच बजे जीपीओ...
- Advertisement -spot_img

Latest News

हाय रे, देश तुम कब सुधरोगे!

आज़ादी के 74 साल बाद भी अंग्रेजों द्वारा डाली गई फूट की राजनीति का बीज हमारे भीतर अंखुआता -अंकुरित...
- Advertisement -spot_img