Saturday, July 2, 2022

POEM REVIEW

अजय सिंह की कविताएं पढ़ते हुए

अपनी बात शुरू करने से पहले एक बात मैं यह स्पष्ट कर दूँ कि कविता की समीक्षा/आलोचना करने का इरादा/सामर्थ्य मुझ में नहीं है। वैसे कविताएं सुनना-पढ़ना मुझे अच्छा लगता है। यह लत मुझे होश संभालते ही लग गई...
- Advertisement -spot_img

Latest News

खेला रुकना नहीं चाहिए

बर्बर हत्या की वीडियो खूब फैलायी जा रही है। अपनी तो बांछें खिल गयी हैं। निर्मम हत्या के वीभत्स...
- Advertisement -spot_img