Friday, July 1, 2022

resources

महज एक आइसबर्ग है रूस-यूक्रेन युद्ध

दुनिया आज जिस रूस-यूक्रेन युद्ध को दम साधे देख रही है, वह एक आइसबर्ग की तरह है। जिसका एक छोटा-सा हिस्सा दिखाई दे रहा है जबकि सतह के भीतर बहुत कुछ अदृश्य है। आगे बढ़ने से पहले थोड़ा पीछे चलते...

देश के 65 संगठनों ने सभी संसाधनों को महामारी के लिए इस्तेमाल करने की मांग की

नई दिल्ली। कोविड महामारी भारत के लगभग सभी परिवारों को किसी न किसी रूप में बुरी तरीके से प्रभावित करते हुए, देश को रौंद रही है। सार्वजनिक स्वास्थ्य व्यवस्था की दयनीय स्थिति और केंद्र तथा राज्य सरकारों के द्वारा...

शिक्षकों की गैरपेशेवर पहचान को बढ़ावा देती नई शिक्षा नीति

स्वतंत्र भारत के करीब 74 सालों के इतिहास में अभी तक तीन बार शिक्षा नीति बनाई गई है। 1968,1986 (संशोधित रूप में 1992) और अब 2020, निश्चित ही शिक्षा के क्षेत्र में ये महत्वपूर्ण नीतिगत दस्तावेज है। शिक्षा नीति...

बिहार में बादशाह के बेशर्मी की बयार है!

कितनी ताज्जुब की बात है कि लगभग डेढ़ दशक (15 वर्ष) तक किसी राज्य पर शासन करने करने वाली सरकार के शूरमा सुशील मोदी जी कह रहे हैं कि - "सरकार के पास प्रवासी मजदूरों को वापस लाने के...

प्राकृतिक संसाधनों की लूट पर लगे रोक:अखिलेन्द्र

लखनऊ। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बार-बार प्रदेश में जारी अवैध खनन के जरिए प्राकृतिक संसाधनों की लूट पर गहरी चिंता जाहिर करते हुए इसके लिए डीएम व एसपी को जिम्मेदार मानकर कार्रवाई करने और सीबीआई से जांच कराने का आदेश...

छत्तीसगढ़ में जबर्रा गांव को मिला अपने संसाधनों पर मालिकाना हक

दुगली (छत्तीसगढ़)। प्रदेश में पहली बार वन अधिकारों की मान्यता अधिनियम 2006 के अन्तर्गत सामुदायिक वन संसाधन अधिकार (CFR) छत्तीसगढ़ की तरफ से ग्राम जबर्रा (विकासखंड नगरी, जिला धमतरी) को वनाधिकार पत्र प्रदान किया गया। इस काम को सूबे के मुख्यमंत्री भूपेश...
- Advertisement -spot_img

Latest News

ग्राउंड रिपोर्ट : नाम, नमक और निशान पाने के लिए तप रहे बनारसी नौजवानों के उम्मीदों पर अग्निवीर स्कीम ने फेरा पानी 

वाराणसी। यूपी और बिहार में आज भी किसान और मध्यम वर्गीय परिवार के बच्चे किशोरावस्था में कदम रखते ही...
- Advertisement -spot_img