Saturday, October 23, 2021

Add News

urmilesh

हिंदी पट्टी की विद्रूपताओं को खोल कर रख देती है ‘गाजीपुर में क्रिस्टोफर कॉडवेल’

सबसे पहले उर्मिलेश सर आपको इस बात के लिए शुक्रिया कि आपके चलते मैंने कोई किताब पढ़ी। पिछले चार सालों से पोर्टल की व्यस्तता के चलते न तो अलग से समय निकाल सका और न ही इसके लिए कोई...

पुस्तक समीक्षा: एक यायावर की यादों के साथ रोमांचकारी पाठकीय यात्रा

देश के वरिष्ठ पत्रकार और प्रतिबद्ध लेखक-विचारक उर्मिलेश के संस्मरणों की किताब ' ग़ाज़ीपुर में क्रिस्टोफर कॉडवेल' के प्रकाशन की घोषणा हो चुकी है। नवारूण प्रकाशन से आने वाली यह किताब जल्द ही पाठकों के हाथ में होगी। प्रकाशन...
- Advertisement -spot_img

Latest News

ममता के निशाने पर मोदी के बजाय राहुल

रुख से नकाब उतरता जाए आहिस्ता आहिस्ता। कुछ ऐसा ही सियासत में भी होता है। कभी गोविंदाचार्य ने कहा...
- Advertisement -spot_img