Saturday, January 22, 2022

Add News

महेंद्र मिश्र

प्रधानमंत्री जी, आप कैलाशा चले जाइये!

प्रधानमंत्री जी अगर आप इस देश में सुरक्षित नहीं हैं तो आपको कैलाशा चले जाना चाहिए। जिस जनता के वोट के बल पर आप चुने गए अगर वही जनता आपको आपके खून की प्यासी दिख रही है तब तो...

जीत गया लोकतंत्र, हार गयी तानाशाही

लोकतंत्र आज एक बार फिर जीत गया। लोकतंत्र की वह डोर जो छूटती जा रही थी जनता ने आज फिर से उसे मजबूती से पकड़ ली। सत्ता की तमाम संस्थाएं जब अपनी जवाबदेहियों से पीछे हट रही थीं और...

आजादी की लड़ाई की कब्र पर हिंदुत्व का फूल खिलाने की कोशिश!

शुरुआत हुई थी जवाहर लाल नेहरू से। नेहरू को संघी आखिरी अंग्रेज घोषित किए थे। और उनके बहाने सेकुलर शब्द को सबसे ज्यादा बदनाम किया गया था। और आखिर में सेकुलर को सेखुलर करार देते हुए उसे एक गाली...

अपराधी जमात में तब्दील हो गयी है त्रिपुरा की बिप्लब देब सरकार

त्रिपुरा का दंगाई मुख्यमंत्री और उसका प्रशासन एक बार फिर सक्रिय हो गया है। उसने पत्रकार श्याम मीरा सिंह के खिलाफ यूएपीए के तहत मुकदमा दर्ज किया है और एफआईआर में उनके ट्विटर पर लिखे गए तीन शब्दों 'त्रिपुरा...

ग्राउंड रिपोर्ट: थाने में ही हो गयी थी अरुण वाल्मीकि की मौत

आगरा। नाम- अरुण वाल्मीकि। उम्र-24 साल। पेशा-सफाई कर्मी। विवाह- शादीशुदा, तीन छोटे बच्चे, दो लड़कियां एक लड़का। सबसे छोटी बच्ची की उम्र- डेढ़ महीने। पांच भाइयों में सबसे छोटे अरुण वाल्मीकि की मौत जगदीशपुरा थाने की पुलिस चौकी में...

मोदी भारत को अमेरिका का प्यादा बनाने को बेताब!

अमेरिका भारत में अपना सैनिक हवाई अड्डा स्थापित करेगा। इस सिलसिले में मोदी और बाइडेन सरकार के बीच जारी वार्ता की प्रक्रिया अपने आखिरी दौर में है। इसका खुलासा खुद अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने किया है। वह...

मुज़फ़्फ़रनगर महापंचायत: किसानों ने सेट कर दिया आगामी चुनावों का राजनीतिक एजेंडा

मुज़फ्‍फ़रनगर में आयोजित किसानों की महापंचायत कई लिहाज से बेहद महत्वपूर्ण साबित हुई है। पंचायत में लोगों की भागीदारी और नेताओं के भाषणों से मिले संदेश के आधार पर कहा जा सकता है कि किसान आंदोलन अब एक दूसरे...

हिंदी पट्टी की विद्रूपताओं को खोल कर रख देती है ‘गाजीपुर में क्रिस्टोफर कॉडवेल’

सबसे पहले उर्मिलेश सर आपको इस बात के लिए शुक्रिया कि आपके चलते मैंने कोई किताब पढ़ी। पिछले चार सालों से पोर्टल की व्यस्तता के चलते न तो अलग से समय निकाल सका और न ही इसके लिए कोई...

विभाजन मोदी का स्थायी भाव है!

वैसे निर्लज्जता की कोई सीमा नहीं होती है। यह बात कल प्रधानमंत्री मोदी की उस पहल से समझ में आयी जिसमें उन्होंने विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस मनाने का उपक्रम किया। अब इसे क्या कहा जाए जिसकी पूरी नींव ही...

आखिर क्यों बीजेपी को चलाना पड़ता है उधार के नेताओं से काम

एक बात डंके की चोट पर कही जा सकती है कि बीजेपी को शासन चलाना नहीं आता है। कर्नाटक में सत्ता फेरबदल ने एक बार फिर इस बात को साबित कर दिया है। जोड़-तोड़ से बनी कर्नाटक की येदुरप्पा...

About Me

130 POSTS
0 COMMENTS

Latest News

मध्यप्रदेश में मुस्लिम होने के गुनाह में जला दिया मकान व ऑटो

भाजपा शासित राज्यों में मुसलमान होना ही गुनाह है। शिवराज सिंह चौहान शासित मध्यप्रदेश मुस्लिम समुदाय के लोगों के...