ट्विटर के निशाने पर कांग्रेस: राहुल गांधी, अजय माकन समेत कांग्रेस पार्टी का एकाउंट ब्लॉक

Estimated read time 1 min read

ट्विटर द्वारा अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के महासचिव और पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय माकन, लोकसभा में पार्टी के सचेतक मनिकम टैगोर, असम प्रभारी और पूर्व केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और महिला कांग्रेस अध्यक्ष सुष्मिता देव के ट्विटर अकाउंट लॉक किया गया है। उपरोक्त जानकरी पार्टी के सोशल मीडिया प्रभारी एआईसीसी सचिव ने नरेंद्र मोदी और ट्विटर के मालिक जैक डॉर्सी को टैग करते हुए यह जानकारी दी है।

वहीं कांग्रेस के सोशल मीडिया प्रमुख रोहन गुप्ता ने कहा कि ट्विटर सरकार के दबाव में काम कर रहा है। इसने भारत में हमारे नेताओं और कार्यकर्ताओं के 5,000 खातों को पहले ही ब्लॉक कर दिया है। उन्हें यह समझने की जरूरत है कि ट्विटर या सरकार द्वारा हम पर दबाव नहीं डाला जा सकता है। ट्विटर के इस कदम की जबर्दस्त निंदा की जा रही है।

यूथ कांग्रेस अध्यक्ष श्रीनिवास वी बी ने प्रतिक्रिया देते हुये लिखा है, “पहले राहुल गांधी जी का एकाउंट, फिर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का एकाउंट, फिर कांग्रेस नेताओं का एकाउंट, और अब राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी का आधिकारिक एकाउंट। ट्विटर खुलेआम बीजेपी के फ्रंटल ऑर्गनाइजेशन के तौर पर काम कर रहा है। हम अभी भारत में हैं या उत्तर कोरिया में रह रहे हैं? “

नवभारत टाइम्स के ब्यूरो चीफ शकील अख़्तर कहते हैं, “अजय माकन का भी कर दिया। 

ट्वीटर यह क्या कर रहे हो?

लोकतांत्रिक दुनिया में विपक्ष की आवाज का बड़ा माध्यम बने थे। सरकार के तो कई माध्यम हैं। भारत में विपक्ष के पास ट्विटर इंडिया ही था।

यह धोखा आप विपक्ष के साथ नहीं लोकतंत्र और आम जनता के साथ कर रहे हो।” 

हिंदुस्तान टाइम्स की पत्रकार दीक्षा भरद्वाज लिखती हैं, “कांग्रेस द्वारा ट्विटर पर मोदी सरकार के लिए बल्लेबाजी करने का आरोप लगाने की विडंबना ही हास्यास्पद है।” 

फिल्म मेकर अमित मेहरा लिखते हैं, “राहुल गांधी, कांग्रेस और उनके 5000 नेताओं, समर्थकों, सदस्यों के खातों को ट्विटर द्वारा बंद कर दिया गया है और फिर भी सुश्री दीक्षा भारद्वाज को लगता है कि सरकार के इशारे पर एफओई पर अंकुश लगाने के लिए ट्विटर पर आरोप लगाना हास्यास्पद है। वह एक पत्रकार हैं और फिर भी वह इस तरह के स्पष्ट बिंदुओं को नहीं जोड़ सकती हैं”। 

युवा कांग्रेस अध्यक्ष श्रीनिवास वी बी भाजपा की फेक न्यूज एजेंसी सरगना अमित मालवीय का ट्वीट साझा करते हुये लिखा है – प्रिय नारंगी ट्विटर,

रेप पीड़िता की मां है, अब 10 महीने हो गए, ट्वीट और अकाउंट अभी बाकी है।

मोदी जी से अनुमति नहीं मिली क्या?

गौरतलब है कि अमित मालवीय ने हाथरस दलित लड़की के गैंगरेप और हत्या केस में पीड़िता की मां का वीडियो ट्विटर पर साझा किया था। लेकिन ट्विटर या सरकार की ओर से उसके ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं की गयी। 

गौरतलब है कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का एकाउंट ट्विटर ने सिर्फ़ इसलिये सस्पेंड कर दिया क्योंकि दिल्ली में संदिग्ध परिस्थितियों में दलित बच्ची 

की मौत और दाह संस्कार के बाद वो पीड़ित परिवार से मिलने के बाद उसके माता पिता के साथ अपनी तस्वीर ट्वीटर पर साझा की थी। 

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours