Saturday, May 28, 2022

बसों को यूपी में घुसने देने की माँग को लेकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष लल्लू लखनऊ में धरने पर बैठे

Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

नई दिल्ली। आगरा के पास ऊँचा नगला पर खड़ी 500 से ज़्यादा बसों को अभी भी यूपी में घुसने की अनुमति नहीं मिली। हालाँकि कांग्रेस द्वारा भेजी गयी इन बसों को काग़ज़ पर अपर गृह सचिव अवनीश अवस्थी ने घुसने की मंज़ूरी दे दी है और उन्हें नोएडा, ग़ाज़ियाबाद भेजे जाने की सूचना भी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के निजी सचिव संदीप सिंह को दे दी गयी है। लेकिन ज़मीन पर हालात जस के तस बने हुए हैं। आगरा प्रशासन का कहना है कि उसको इस तरह के कोई निर्देश नहीं मिले हैं।

लखनऊ में लल्लू का धरना।

इस मसले को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने अब लखनऊ में धरना शुरू कर दिया है। अपने 20-25 कार्यकर्ताओं के साथ वह लखनऊ की सड़क पर बैठ गए हैं। इस सिलसिले में सामने आए वीडियो में लल्लू को पुलिस प्रशासन से बातचीत करते देखा जा सकता है।

जिसमें लल्लू को पुलिस के अफ़सर बसों को ड्राइवरों के साथ लाने की बात कह रहे हैं। जब लल्लू ने कहा कि बसों को अनुमति मिल गयी है लेकिन उन्हें सूबे में घुसने नहीं दिया जा रहा है तो उस पर पुलिस के अफ़सर ऊपर का मामला बताकर पल्ला झाड़ ले रहे हैं।

इसके पहले शाम को तक़रीबन चार बजे संदीप सिंह ने एक बार फिर अवनीश अवस्थी को पत्र लिखा। जिसमें उन्होंने साफ-साफ लिखा है कि बसें आगरा के पास ऊँचा नगला में तब के समय के मुताबिक़ 3 घंटे से इंतज़ार कर रही हैं लेकिन उन्हें स्थानीय प्रशासन घुसने नहीं दे रहा है। उन्होंने लिखा है कि एक बार फिर आप से संवेदनशीलता दिखाने की उम्मीद की जाती है। और उसके तहत बसों को तत्काल सूबे के भीतर जाने की इजाज़त दें।

बेहद सौहार्द्रपूर्ण शब्दों में लिखे गए इस पत्र में उन्होंने कहा है कि सभी मिलकर ही इस आपदा से निपट सकते हैं। और यह मौक़ा राजनीति करने का नहीं है।  

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

- Advertisement -

Latest News

नॉर्थ ईस्ट डायरी: असम में दोहराई जा रही यूपी की बुल्डोजर राजनीति?

क्या उपद्रवियों को दंडित करने के लिए बुल्डोजर को नवीनतम हथियार बनाकर  असम उत्तर प्रदेश का अनुसरण कर रहा...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This