Wednesday, June 29, 2022

Congress

हरियाणा से उम्मीदवार क्यों नहीं बने सुरजेवाला? छत्तीसगढ़, राजस्थान, महाराष्ट्र से हकमारी क्यों?

कांग्रेस ने राज्यसभा उम्मीदवारों की जो सूची जारी की है उसे देखकर खुद कांग्रेसी हैरान हैं। ऐसा नहीं है कि इनमें से कोई नाम नया है या कोई उम्मीदवार अयोग्य है। बल्कि, हैरानी की वजह है कि राजनीतिक नजरिए...

आखिर राहुल गांधी को कुल्हाड़ी पर पैर मारने की क्या जरूरत थी?

साल 2019 के लोकसभा चुनाव में देश के क्षेत्रीय दलों को 14.15 करोड़ वोट मिले थे, जो कांग्रेस को मिले 11.95 करोड़ वोटों से 2.2 करोड़ वोट ज्यादा हैं। इन क्षेत्रीय दलों के सांसद भी कांग्रेस से ज्यादा हैं-...

कमजोर कांग्रेस एक राजनीतिक सच्चाई है, ठीकरा नेतृत्व के सिर पर

2014 के लोकसभा चुनाव से कांग्रेस की चुनावी हार का रोलर-कोस्टर सिलसिला थमने का नाम नहीं लेता दिख रहा। पारिवारिक नेतृत्व की पंजीरी बांटने की क्षमता कमतर होते जाने से पार्टी पर भी उनकी पकड़ ढीली पड़नी स्वाभाविक था।...

गुटबाजी से चिंतित सोनिया गांधी की खींची लक्ष्मण रेखा की हकीकत और नए चुनावों की कांग्रेसी तैयारी

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने उदयपुर (राजस्थान) में 13 मई को पार्टी के चिंतन शिविर के उद्घाटन भाषण में एक तरह की लक्ष्मण रेखा खींच दी। उन्होंने कहा कि इसमें भाग लेने देश भर से आए प्रतिनिधि यहाँ खुल कर बोलें, जो चाहे...

इतिहास के आइने में कांग्रेस के चिंतन शिविर 

स्वतंत्र भारत का संविधान तैयार करने वाली संविधान सभा के अध्यक्ष और संप्रभुता-सम्पन्न भारत गणराज्य के प्रथम राष्ट्रपति डा.राजेन्द्र प्रसाद ( 3 दिसंबर 1884: 28 फरवरी 1963 ) ने लिखा था, “ अक्सर दुनिया में जो लड़ाइयाँ हुई हैं, उनमें शास्त्रार्थों और साज...

बिहार में प्रशांत किशोरः चुनाव की ठेकेदारी से सीधे मैदाान में?

देश की सबसे पुरानी पार्टी को सुधारने का फार्मूला बेचने में विफल हुए प्रशांत किशोर अब बिहार आ गए हैं और जमीन की राजनीति का अपना नया फार्मूला घोषित करने की तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने संकेत दिए हैं...

राज ठाकरे का वैसा ही इस्तेमाल हो रहा है जैसा कभी बाल ठाकरे का हुआ था!

भारत की राजनीति में यह महारत भारतीय जनता पार्टी को ही हासिल है कि वह जिस राज्य में जब चाहे, वहां की किसी भी स्थानीय पार्टी या नेता का राजनीतिक इस्तेमाल कर सकती है। जैसे बिहार विधानसभा के चुनाव...

पुण्यतिथि पर विशेष: क्या भक्त दर्शन जैसा कोई आदर्शवादी नेता पैदा होगा उत्तराखण्ड में

उत्तराखण्ड के महान राजनेता, लेखक, पत्रकार और चिन्तक डॉ. भक्त दर्शन के व्यक्तित्व और उनके कृतित्व पर अगर हम विस्तार से प्रकाश डालें तो आज के अवसरवादी, पदलोलुप, जातिवादी और साम्प्रदायिकतवादी राजनीतिक महौल को देख कर नयी पीढ़ी को...

एमपी में नए नेता प्रतिपक्ष: घोड़े या सवार को नहीं, दशा के लिए बदलनी होगी दिशा

अंततः कांग्रेस ने मध्यप्रदेश की विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बदल ही दिया।  अब तक पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ही प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भी थे, नेता प्रतिपक्ष भी थे। अब 7 बार के विधायक डॉ गोविन्द सिंह नेता प्रतिपक्ष होंगे।...

पीके-कांग्रेस जुदा-जुदा: तू भी खुश मैं भी, पर बीजेपी क्यों ज्यादा खुश?

कांग्रेस खुश है कि पीके ने उसके ऑफर को ठुकरा दिया। यह खुशी कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला के ट्वीट में नज़र आती है जिसमें वे पीके का आभार भी जताते हैं और यह भी बताते हैं कि...
- Advertisement -spot_img

Latest News

छत्तीसगढ़: भूमि अधिकार आंदोलन के तहत आयोजित हुआ राज्य स्तरीय सम्मेलन 

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के पास्टोरल सेंटर में भूमि अधिकार आंदोलन का राज्य सम्मेलन आयोजित हुआ। 28 जून...
- Advertisement -spot_img