छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में भी गैस लीक होने से 7 मज़दूर घायल, तीन की हालत गंभीर

Estimated read time 1 min read

रायपुर। आंध्र प्रदेश के वायजेग शहर में जहरीली गैस के रिसाव से पहले छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के पुसौर थाना क्षेत्र में 7 मजदूर भी जहरीली गैस के रिसाव की जद में आ गए हैं। मिली जानकारी के अनुसार घटना बुधवार दोपहर 3 बजे की है, ग्राम तेतला के शक्ति पेपर मिल की क्लोरीन टंकी सफाई में 3 मजदूर लगे थे इस दौरान जहरीली गैस का रिसाव हुआ और सभी इसकी चपेट में आ गए। इसके अलावा टंकी के पास खड़े चार और लोग भी इसके शिकार हो गए।

खबर है कि घटना की जानकारी मिलते ही थाना प्रभारी पुसौर के अलावा कलेक्टर रायगढ़ और जिला प्रशासन के तमाम बड़े अधिकारी घटना स्थल पर पहुंच गए थे। उनके निर्देश पर घायलों को तत्काल रायगढ़ के संजीवनी अस्पताल में इलाज के लिये लाया गया था।

घटना में आहत 7 मजदूरों में से 3 की हालत नाजुक होने के कारण, प्रशासन पुनः हरकत में आ गया। जिससे मीडिया कर्मियों को भी घटना की सूचना मिल गई। प्रशासन ने बताया कि गम्भीर रूप से आहत एवं संजीवनी अस्पताल रायगढ़ में इलाजरत तीन मजदूरों को राजधानी रायपुर के अस्पताल में रेफर किया जा रहा है। वहीं अस्पताल पहुंचे कलेक्टर और एसपी ने मजदूरों के परिवार वालों से मुलाकात की और उन्हें भरोसा दिलाया कि शासन की तरफ से घायलों के इलाज में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ा जाएगा। समाचार लिखे जाने तक आहतों को रायपुर ले जाने की तैयारी शुरू हो गई है। प्रबन्धन के द्वारा गम्भीर रूप से आहत मजदूरों का नाम डोलामनी सिदार, रूपधर मालाकार और सुरेद्र गुप्ता बताया गया है।

वहीं प्लांट संचालक दीपक गुप्ता ने बताया कि यह प्लांट विगत दो-तीन माह से बन्द था। उसे दोबारा से चालू करने की तैयारी से हम सब वहां पहुंचे थे। इस बीच क्लोरीन टँकी की सफाई के लिए उतरे सात मजदूर टँकी में बनी मीथेन गैस की चपेट में आकर बीमार पड़ गए थे। जिनमें से आज 2 लोग ठीक हो गए है।। जबकि तीन घायलों की गम्भीर हालत देखकर उन्हें बेहतर तरीके से इलाज के लिए राजधानी रायपुर भेजा जा रहा है।

You May Also Like

More From Author

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments