Wednesday, December 8, 2021

Add News

क्रूज केस: सैम डिसूजा ने माना कि उसने गोसावी का संपर्क शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी से करवाया

ज़रूर पढ़े

क्रूज जहाज मादक पदार्थ मामले में सैम डिसूजा उर्फ़ सेनविल स्टेनली डिसूजा सोमवार को मुंबई पुलिस के विशेष जांच दल के सामने पेश हुआ। सोमवार को डिसूजा अपने वकील पंकज जाधव के साथ अपना बयान दर्ज कराने के लिए अपराह्न लगभग 12 बजकर 45 मिनट पर दक्षिण मुंबई में एसआईटी के कार्यालय पहुंचा, जहां उससे पूछताछ की गई।

इससे पहले आर्यन खान केस मामले में एनसीबी की दिल्ली ऑफिस की विजिलेंस टीम ने सैम डिसूजा उर्फ़ सेनविल स्टेनली डिसूजा को समन भेज कर आज पूछताछ के लिए बुलाया था। सैम डिसूजा का बयान दर्ज कर लिया गया है। मामला दबाने के लिए शाहरुख खान की मैनेजर से 25 करोड़ की डील वाले मामले में सैम ने कुछ अहम खुलासे किए हैं।

सैम डिसूजा ने पूछताछ में बताया कि आर्यन खान के पास से ड्रग्स बरामद नहीं हुआ था। उसने बताया कि सुनील पाटिल और किरण गोसावी ने उसे फोन पर यह बताया था कि आर्यन खान के पास से ड्रग्स बरामद नहीं हुआ है, वह निर्दोष है। इसलिए इंसानियत के नाते उसने गोसावी का संपर्क शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी से करवाया। इस मामले में गोसावी कोई डील करने वाला है, इसकी उसे जानकारी नहीं थी।

ये पूछने पर कि फिर 50 लाख जो एडवांस दिया गया था वो वापस आप क्यों लेने गए? सैम डिसूजा ने कहा कि ”सुनील पाटिल ने उसे बोला कि किरण गोसावी ने 50 लाख रुपये ले लिए हैं। तब मैं शॉक हो गया। सैम डिसूजा ने आगे कहा कि पाटिल ने प्रभाकर से मुझे पैसे लेने को कहा जो मैंने LIC बिल्डिंग के सामने लिए, फिर जिस तक पहुंचाना था उसे पंहुचा दिया। उसमें मेरा कोई रोल नहीं है।

सैम डिसूजा ने पूछताछ में बताया कि किरण गोसावी को पहले से वह नहीं जानता था। सुनील पाटिल से जब उसे गोसावी का नंबर मिला तो उसने गोसावी का नंबर एनसीबी को भेज दिया। यानी सैम ने पूछताछ में एक तरह से यह कबूल कर लिया है कि उसने किरण गोसावी का संपर्क एक तरफ एनसीबी के अधिकारियों से करवाया दूसरी तरफ शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी से करवाया।

गौरतलब है कि तीन सप्ताह पूर्व क्रूज शिप ड्रग्स पार्टी केस में गिरफ्तार आर्यन खान को छोड़ने के लिए 25 करोड़ रुपये की डीलिंग का खुलासा NCB के ही एक गवाह प्रभाकर सैल (Prabhakar Sail) ने किया था? तब प्रभाकर सैल ने बताया था कि किरण गोसावी और पूजा ददलानी के बीच की अहम कड़ी सैम डिसूजा था। स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सैल ने पिछले महीने दावा किया था कि उसने एनसीबी के गवाह के पी गोसावी को एनसीबी द्वारा आर्यन खान को गिरफ्तार किए जाने के बाद फोन पर डिसूजा के साथ 25 करोड़ रुपये के भुगतान सौदे पर चर्चा करते हुए सुना था। मुंबई पुलिस ने बाद में मामले के संबंध में एनसीबी अधिकारियों के खिलाफ जबरन वसूली के आरोपों की जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया।

वहीं सैम डिसूजा ने एनसीबी की विजिलेंस टीम को बताया कि एक अक्टूबर की रात पॉवर ब्रोकर सुनील पाटिल ने फोन करके उसका गोसावी से संपर्क करवाया और NCBमें संपर्क निकालने के लिए कहा। उसके बाद सैम ने NCB के अधिकारी वीवी सिंह से फोन पर बात की। वीवी सिंह ने टिप मिलने के बाद किरण गोसावी को मिलने के लिये बुलाया। उसके बाद किरण गोसावी और मनीष भानुशाली मिलने गए. उसके बाद क्रूज पर रेड हुई और सबको पकड़कर NCB दफ़्तर लाया गया। लेकिन उसने सिर्फ़ मिलवाया था उसके बाद उसका कोई रोल नहीं थाा।

सैम डिसूजा ने आगे बताया कि दो अक्टूबर की रात फिर सुनील पाटिल का फोन आया और उसने बताया कि गोसावी से सम्पर्क नहीं हो पा रहा है। सुनील पाटिल ने गोसावी से मिलने के लिए कहा। उसके बाद रात में गोसावी और उसकी मुलाकात NCB दफ़्तर के पास हुई। तब किरण गोसावी ने बताया कि आर्यन खान भी गिरफ्तार हुआ है। शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी से बात करनी है।

सैम डिसूजा ने आगे बताया कि उसने कोशिश की लेकिन कोई संपर्क नहीं निकला। फिर कुछ देर बाद किरण गोसावी ने बताया कि आर्यन खान के पास से कोई ड्रग्स नहीं मिला है तो हम उसकी मदद कर सकते हैं। उसने फिर से पूजा ददलानी का संपर्क निकालने के लिए कहा। थोड़ी कोशिश के बाद इस बार सैम कामयाब हो गया।

सैम डिसूजा ने बताया कि बाद में उसने दोनों की परेल में मुलाकाल करवाई लेकिन उनमें क्या बात हुई ये पता नहीं। सैम ने किरण गोसावी और उसके बीच फोन पर 25 करोड़ की डील 18 करोड़ में फाइनल करने और उसमे से 8 करोड़ समीर वानखेड़े को देने की बातचीत से इनकार किया।
सैम डिसूजा का कहना है कि किरण गोसावी ने अपने फोन में प्रभाकर सैल का नंबर SW2 नाम से सेव कर रखा था। उसकी गाड़ी में पुलिस का बोर्ड था और खुद को वह NCB का अफ़सर बता रहा था। उसने कहा कि ये सब गोसावी, सुनील पाटिल ने मिलकर वसूली का कांड किया था। उसका उसमें कोई रोल नहीं था, अगर होता तो बातचीत में उसके हिस्से का भी जिक्र होता।

इससे पहले, डिसूजा ने बांबे उच्च न्यायालय के समक्ष दायर अपनी गिरफ्तारी पूर्व जमानत याचिका में दावा किया था कि गोसावी ने आर्यन खान को रिहा कराने के लिए शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी से 50 लाख रुपये लिए थे। याचिका में कहा गया है कि एनसीबी द्वारा तीन अक्टूबर को मामले में आर्यन खान को गिरफ्तार करने के बाद राशि वापस कर दी गई थी। सैम डिसूजा ने यह भी दावा किया कि गोसावी ने उन्हें बताया था कि आर्यन खान के पास से कोई मादक पदार्थ नहीं मिला था और वह वास्तव में निर्दोष था।

(जनचौक के विशेष संवाददाता सुशील मानव की रिपोर्ट।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

सरकार की तरफ से मिले मसौदा प्रस्ताव के कुछ बिंदुओं पर किसान मोर्चा मांगेगा स्पष्टीकरण

नई दिल्ली। संयुक्त किसान मोर्चा को सरकार की तरफ से एक लिखित मसौदा प्रस्ताव मिला है जिस पर वह...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -