Saturday, February 4, 2023

उत्तर प्रदेश में श्रम विरोधी विधेयक के खिलाफ वर्कर्स फ्रंट ने किया पूरे सूबे में विरोध प्रदर्शन

Follow us:
Janchowk
Janchowkhttps://janchowk.com/
Janchowk Official Journalists in Delhi

ज़रूर पढ़े

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा और विधान परिषद में बिना वोटिंग कराए हुए ही उत्तर प्रदेश औद्योगिक विवाद संशोधन विधेयक 2020, उत्तर प्रदेश कारखाना अधिनियम संशोधन विधेयक 2020, उत्तर प्रदेश कतिपय श्रम विधियों में अस्थाई छूट संशोधन विधेयक 2020 और लोक संपत्ति और निजी संपत्ति विधेयक 2020 को पास कराए जाने के विरोध में वर्कर्स फ्रंट ने पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन आयोजित किया।

वर्कर्स फ्रंट के प्रदेश अध्यक्ष दिनकर कपूर ने बताया कि प्रदेश के प्रमुख औद्योगिक केंद्र सोनभद्र जनपद में अनपरा और ओबरा तापीय परियोजना, हिंडालको, रेणुकूट, आगरा, मऊ, बाराबंकी, फिरोजाबाद, लखनऊ समेत प्रदेश के विभिन्न जनपदों और औद्योगिक प्रतिष्ठानों में विरोध प्रदर्शन आयोजित किया गया।

उन्होंने कहा कि आरएसएस-भाजपा की योगी सरकार कॉरपोरेट की सरकार है। इस सरकार ने श्रम कानूनों में जो संशोधन किया है, यह उत्तर प्रदेश में औद्योगिक विकास को अवरुद्ध करने का काम करेगा और प्रदेश में औद्योगिक अशांति को बढ़ावा देगा।

उन्होंने कहा कि मजदूर संगठन ही नहीं देश के कुछ एक उद्योगपतियों तक ने सरकार को आगाह किया था कि श्रमिकों के हित में बने हुए कानूनों को खत्म करने से देश में औद्योगिक विकास में बाधा उत्पन्न होगी। दुनिया में भी जहां कहीं भी श्रम कानूनों को कमजोर किया गया है, वहां बड़े नुकसान उठाने पड़े हैं।

WORKER

उन्होंने कहा कि इन विधेयकों के बाद उत्तर प्रदेश में सेफ्टी वाल्व के बतौर काम कर रहे श्रम विभाग को जो न्यूनतम अधिकार भी हासिल थे, वह भी समाप्त कर दिए गए हैं और मजदूरों के हितों पर बड़ा कुठाराघात किया गया है। योगी सरकार ने हाईकोर्ट में हारने के बाद इन विधेयकों को लाने का फैसला किया है। इसकी वैधानिकता की जांच कराई जाएगी और यदि आवश्यकता पड़ी तो उन्हें हाईकोर्ट में चुनौती दी जाएगी।

उन्होंने सभी मजदूर संगठनों से अपील की कि वह एकजुट हों और आरएसएस और भाजपा की योगी सरकार की इस मजदूर विरोधी गतिविधि के खिलाफ अपना प्रतिवाद दर्ज कराएं।

वर्कर्स फ्रंट द्वारा आयोजित विरोध कार्यक्रमों का नेतृत्व सोनभद्र में कृपाशंकर पनिका, ठेका मजदूर यूनियन के मंत्री तेजधारी गुप्ता, तीरथ राज यादव, पूर्व सभासद नौशाद, पूर्व सभासद मारी, आगरा में इंजीनियर दुर्गा प्रसाद लखनऊ में मोहम्मद कय्यूम, नेवाजी, बाराबंकी में यादवेंद्र प्रताप सिंह और मऊ में बुनकर वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष इकबाल अंसारी ने किया।

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

गुरमीत राम रहीम के सत्संग और अमृतपाल की खिलाफत: ‘काले दिनों’ के मुहाने पर पंजाब

भारत का सबसे प्रमुख दक्षिणपंथी दल भारतीय जनता पार्टी है और इस वक्त केंद्र की शासन-व्यवस्था नरेंद्र मोदी की...

More Articles Like This