Tuesday, January 18, 2022

Add News

एमपी में पार हुई बर्बरता की हर सीमा, ट्रक में बांधकर घसीटे जाने के बाद आदिवासी युवक की मौत

ज़रूर पढ़े

मध्य प्रदेश के नीमच में बर्बर गुर्जरों ने एक भील आदिवासी को मामूली सी बात पर बेदम होने तक पीटा। इसके बाद उसे पिकअप से बांधकर 100 मीटर तक पक्की सड़क पर घसीटा। गंभीर हालत में उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां मौत हो गई। घटना नीमच जिले के सिंगोली थाना क्षेत्र की है। कान्हा उर्फ कन्हैया भील, बाणदा का रहने वाला था।

इस बर्बरता का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वॉयरल होने के बाद पुलिस ने इस मामले में 8 आरोपियों की पहचान की है। मुख्य आरोपी महेंद्र समेत 4 को गिरफ्तार कर लिया गया है। मुख्य आरोपी महेंद्र गुर्जर की पत्नी सरपंच है।  आरोपियों पर हत्या और SC/ST एक्ट के तहत मामला दर्ज़ किया गया है।

नीमच के पुलिस अधीक्षक सूरज कुमार वर्मा ने बताया है कि 26 अगस्त को सुबह करीब 6 बजे आरोपी छीतरमल गुर्जर ने कान्हा को बाइक से टक्कर मार दी थी। इस दौरान छीतरमल की बाइक पर लदा दूध नीचे गिर गया था। टक्कर लगने पर कान्हा ने पत्थर उठा लिया। इस पर छीतरमल ने अपने रिश्तेदारों को बुला लिया और कान्हा के साथ मारपीट की। इसी दौरान सड़क से एक पिकअप गाड़ी निकली, इसमें रस्सी भी बंधी थी। आरोपियों ने कान्हा के पैर बांधकर पिकअप से उसे 100 मीटर से ज्यादा दूर तक घसीटा।

छीतरमल (32) पिता जयराम गुर्जर निवासी ग्राम पाटन, महेन्द्र (40) पिता रामचंद्र गुर्जर निवासी घेतलिया, गोपाल (40) पिता लालू गुर्जर निवासी पाटन, लोकेश पिता नारायण बलाई आयात निवासी सिंगोली, लक्ष्मण पिता जयराम गुर्जर निवासी ग्राम पाटन। इनके पास से एक बाइक, कार और पिकअप वाहन और रस्सी बरामद कर ली है।

कौन था कन्हैयालाल (कान्हा)

नीमच के पुलिस अधीक्षक सूरज कुमार वर्मा ने बताया है कि, 27 अगस्त को नाइयों की बाबी के रहने वाले गोविंद ने रतनगढ़ थाने में शिक़ायत की थी। उसने पुलिस को बताया कि 25 अगस्त की रात 9 बजे उसके गांव में रहने वाले कान्हा उर्फ कन्हैयालाल ने कॉल करके शराब पीने के लिए बुलाया था। जब वह उसके घर पहुंचा, तो कान्हा और उसकी पत्नी दोनों ही घर पर नहीं थे। रात में कान्हा घर लौटा और सुबह करीब 5 बजे गोविंद को जगाकर पत्नी को खोजने की बात कही। इसके बाद गोविंद और कान्हा बाइक से अथवाकला फंटा पहुंचे।

गोविंद ने पुलिस को बताया कि यहां कान्हा गाड़ियों में पत्नी को तलाशने लगा। पत्नी के न मिलने पर वह परेशान हो गया और उसने गुस्से में पत्थर उठा लिया। इसी बीच, बाइक पर आए छीतरमल ने गोविंद और कान्हा को टक्कर मार दी। साथ ही छीतरमल ने कान्हा के हाथ में पत्थर देखकर अपने रिश्तेदारों को बुलाकर उसे पीटा। इसके बाद पिकअप से घसीटा। जिससे अस्पताल ले जाते वक्त उसकी मौत हो गई।

पीड़ित को चोर बताकर पुलिस को सौंपा

मॉब लिंचिंग और दबंगई की घटनाओं में एक सा पैटर्न देखा गया है। मॉब लिंचिंग के बाद पीड़ित को ही अपराधी बना दिया जाता है। अभी एक सप्ताह पूर्व मध्यप्रदेश के इंदौर में ही तस्लीम नामक चुड़िहार को भगवा गैंग ने मॉब लिंचिंग के बाद चोरी, छेड़छाड़, और धार्मिक पहचान छुपाने का आरोप लगाकर अभियुक्त बना दिया।

एडिशनल एसपी नीमच सुंदर सिंह कनेश ने घटना की शुरुआती जानकारी के बाबत बताया है कि डायल-100 को सूचना मिली थी कि एक चोर को पकड़ा गया है, जो घायल है। उसे अस्पताल ले जाना है।

सिंगोली पुलिस मौके पर पहुंची और उसे अस्पताल में भर्ती कराया। जहां उसकी मृत्यु हो गई। बाद में पता चला एक वीडियो भी वायरल हुआ था जिससे जानकारी मिली कि कन्हैया लाल भील को पिकअप वाहन के पीछे बांधकर घसीटा गया था और मारपीट की गई थी। हत्या का मामला दर्ज किया गया है और अन्य धाराएं भी लगाई गई हैं। 8 आरोपियों को चिन्हित किया गया। जिसमें से चार को राउंडअप कर लिया गया है। घटना में इस्तेमाल की गई पिकअप को ज़ब्त किया गया है। एक सरपंच पति महेंद्र गुर्जर भी है, जिसे गिरफ्तार किया गया है। अन्य आरोपियों की तलाश जारी है। बहुत जल्द सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।

(जनचौक के विशेष संवाददाता सुशील मानव की रिपोर्ट।)

तत्काल समाचारों के लिए, हमारा जनचौक ऐप इंस्टॉल करें

Latest News

जम्मू-कश्मीर प्रेस क्लब पर सरकार का क़ब्जा, देश भर में उठी विरोध की आवाज

जम्मू-कश्मीर सरकार ने श्रीनगर के बीचों-बीच स्थित प्रेस क्लब की भूमि और भवन को अपने कब्ज़े में लेकर संपदा...
जनचौक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें

Janchowk Android App

More Articles Like This

- Advertisement -